जूलियन असांजे
जूलियन असांजे

क्वीटो/एएफपी। इक्वाडोर ने कहा है कि विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे की शरण वापस लेने के बाद उसकी सार्वजनिक संस्थाओं के वेबपेजों पर चार करोड़ साइबर हमले हो चुके हैं।

इक्वाडोर के सूचना एवं संचार तकनीक उपमंत्री पैट्रिसियो रील ने कहा कि ये हमले बृहस्पतिवार से शुरू हुए और ‘अधिकांश हमले अमेरिका, ब्राजील, हॉलैंड, जर्मनी, रोमानिया, फ्रांस, ऑस्ट्रिया और ब्रिटेन’ से किए गए हैं। इसके अलावा दक्षिणी अमेरिकी देशों से भी हमले हुए हैं।

टेलीकम्युनिकेशन मंत्रालय के इलेक्ट्रॉनिक सरकारी विभाग के अवर सचिव जेवियर जारा ने बताया कि देश में व्यापक स्तर पर साइबर हमले हुए जिसके बाद उन्हें इंटरनेट बंद करना पड़ा। उनका कहना है कि ये हमले जूलियन असांजे से जुड़े हुए समूहों का कारनामा है।

इन साइबर हमलों में सबसे ज्यादा प्रभावित सेंट्रल बैंक, राष्ट्रपति कार्यालय, इंटरनेट राजस्व सेवा और कई मंत्रालय और विश्वविद्यालय हुए हैं।

असांजे को इक्वाडोर के लंदन स्थित दूतावास से बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया गया क्योंकि इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनीन मोरेनो ने सात साल के बाद असांजे से अपनी राजनयिक सुरक्षा खत्म कर दी।

मोरेनो ने असांजे पर ‘दूसरे देशों के मामले में दखल’ देने और जासूसी करने का आरोप लगाया और शरण देने से इनकार कर दिया। वहीं इक्वाडोर ने 2017 में असांजे को दी गई नागरिकता भी समाप्त कर दी।

वहीं इक्वाडोर के विदेश मंत्री जोश वालेनसिया ने सोमवार को कहा कि असांजे के साथ गलत व्यवहार नहीं किया जा रहा था, बल्कि असांजे का व्यवहार ‘गलत और अपमानजनक’ था।

वहीं उन्होंने अल पेरिस समाचार पत्र के एक वीडियो का जिक्र किया। हालांकि वीडियो में ऑडियो नहीं है। असांजे इस वीडियो में इक्वाडोर के दूतावास में एक अधिकारी के साथ बहस करते दिख रहे हैं।

LEAVE A REPLY