Farooq Abdullah
Farooq Abdullah

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला ने कहा है कि यदि केंद्र सरकार ने 35ए और अनुच्छेद 370 पर अपना रुख स्पष्ट नहीं किया तो उनकी पार्टी पंचायत चुनाव और विधानसभा तथा लोकसभा चुनावों का बहिष्कार कर देगी। पिछले दिनों फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि यदि 35ए पर केंद्र द्वारा रुख स्पष्ट नहीं किया गया तो उनकी पार्टी पंचायत चुनावों का बहिष्कार करेगी।

फारूक अब्दुल्ला पूर्व में कह चुके हैं कि केंद्र को ऐसे प्रयास करने चाहिए ताकि अनुच्छेद 35ए और ज्यादा मजबूत बने। उन्होंने कहा था कि उच्चतम न्यायालय में डाली गई याचिका पर जोरदार पैरवी करनी चाहिए। इस मामले को लेकर राज्य में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो चुके हैं। उनका कहना है कि 35ए के मामले में जो स्थिति है, उसे बरकरार रखा जाए। फारूक अब्दुल्ला इस मुद्दे को कई बार उठा चुके हैं।

उच्चतम न्यायालय में जब 35ए पर सुनवाई हो रही थी तो कश्मीर के कई संगठनों ने बंद का आह्वान किया था। अभी जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन चल रहा है। वहां अगले कुछ महीनों में पंचायत चुनाव होने हैं। फारूक अब्दुल्ला 35ए को लेकर उनका बहिष्कार कर चुके हैं।

अब इस मामले को और जोरशोर से उठाने के लिए उन्होंने लोकसभा और विधानसभा चुनावों के बहिष्कार का भी ऐलान कर दिया। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी कह चुके हैं कि 35ए पर अपना रुख स्पष्ट करना केंद्र सरकार पर निर्भर करता है।

अनुच्छेद 35ए काफी चर्चा में रहा है। यह धारा 370 का अंग है। इसके जरिए जम्मू-कश्मीर के लोगों को कई विशेष अधिकार दिए गए हैं। यह कानून लागू होने से भारत के किसी भी राज्य का व्यक्ति जम्मू-कश्मीर में स्थायी नागरिक के तौर नहीं रह सकता। इसकी वजह से कोई व्यक्ति वहां संपत्ति नहीं खरीद सकता। भारत में कई संगठन यह मांग कर चुके हैं कि अब इस कानून पर दोबारा विचार करने की जरूरत है।

ये भी पढ़िए:
– ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में यह चेहरा निभाएगा डॉ. हाथी का किरदार!
– पाक सेना प्रमुख की भारत को धमकी- ‘हम सरहद पर बहे लहू का हिसाब लेंगे’
– कट्टरपंथियों के आगे झुके इमरान ख़ान, अहमदी होने की वजह से मशहूर अर्थशास्त्री को निकाला
– अब भोजपुरी फिल्मों में चलेगा राखी का जादू, आ रही हैं मचाने धमाल

Facebook Comments

LEAVE A REPLY