salute to martyr policemen
salute to martyr policemen

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकियों ने 3 पुलिसकर्मियों को अगवा करने के बाद उनकी हत्या कर दी। उनके शव कापरान गांव के जंगल में मिले हैं। उन्हें गोलियां मारी गई थीं। पिछले दिनों हिज्बुल मुजाहिदीन ने कश्मीरियों को धमकी दी थी कि वे भारतीय सुरक्षाबलों की नौकरी छोड़ दें। अब आतंकियों ने फिरदौस, कुलवंत सिंह और निसार अहमद नामक पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी है।

इस हत्याकांड के बाद हिज्बुल कमांडर रियाज नायकू का नाम चर्चा में है। उसने ही वह धमकी दी थी। उसने एक वीडियो जारी कर पुलिसकर्मियों को अगवा करने की जिम्मेदारी ली। उसने मांग की थी कि आतंकियों के सभी परिजनों को जेल से रिहा किया जाए। उसने एक धमकी भरे वीडियो में कहा था कि कश्मीरियों को सुरक्षाबलों की नौकरी से इस्तीफा दे देना चाहिए वरना उनका कत्ल कर दिया जाएगा।

उसका मैसेज सोशल मीडिया पर भी प्रसारित किया गया था। यही नहीं, जम्मू—कश्मीर के कई गांवों में हिज्बुल ने पोस्टर लगाकर धमकी दी थी। अब तीन पुलिसक​र्मियों की हत्या के बाद देशभर में मांग हो रही है कि रियाज नायकू समेत सभी आतंकियों पर सख्त कार्रवाई की जाए। इस हत्याकांड के बाद रियाज का नाम दोबारा सुर्खियों में आ गया है। वह मोहम्मद बिन कासिम के नाम से भी कुख्यात है।

रियाज को भारतीय सेना की हिट लिस्ट में शामिल किया गया है। वह ए++ श्रेणी का खूंखार आतंकवादी है। बांदीपोरा का निवासी यह आतंकी पिछले करीब आठ वर्षों से दहशतगर्दी में शरीक है। करीब 29 साल का रियाज नायकू अब हिज्बुज का कमांडर है। कश्मीर घाटी में आॅपरेशन आॅल आउट के बाद आतंकवादी अपनी रणनीति बदल रहे हैं। इसके तहत ऐसे कश्मीरियों को निशाना बनाया जाता है जो सुरक्षाबलों में काम कर रहे हैं।

ये भी पढ़िए:
– बनने से पहले ही महागठबंधन में फूट, छत्तीसगढ़, मप्र और राजस्थान में कांग्रेस के साथ नहीं बसपा
– लघु बचत योजनाओं में निवेश पर मोदी सरकार ने दिया तोहफा, बढ़ाईं ब्याज दरें
– पाकिस्तान ने बुरहान समेत खूंखार आतंकियों पर जारी किए डाक टिकट, बताया ‘मासूम’ और ‘पीड़ित’
– 44 साल के शख्स ने 15 साल की लड़की से की दूसरी शादी, शरिया अदालत ने दी इजाजत

LEAVE A REPLY