ips rishi kumar shukla
ips rishi kumar shukla

नई दिल्ली/दक्षिण भारत डेस्क। भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी ऋषि कुमार शुक्ला को सीबीआई का निदेशक नियुक्त किया गया है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व वाली चयन समिति ने आईपीएस शुक्ला के नाम पर मुहर लगा दी है। वे मध्य प्रदेश कैडर के 1983 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। वे मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक भी रह चुके हैं। सीबीआई निदेशक पद पर नियुक्ति से पहले वे मध्य प्रदेश पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन के चेयरमैन थे।

उधर वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने सीबीआई निदेशक पद पर ऋषि कुमार शुक्ला की नियुक्ति का विरोध शुरू कर दिया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। खरगे की दलील है कि ऋषि कुमार शुक्ला को भ्रष्टाचार रोधी जांच संंबंधी अनुभव कम है। उन्होंने जावेद अहमद के नाम की पैरवी की है।

बता दें कि शुक्रवार को चयन समिति की बैठक हुई थी। इसमें प्रधानमंत्री मोदी के साथ वरिष्ठ कांग्रेस नेता खरगे और सीजेआई रंजन गोगोई मौजूद थे। इस दौरान कई अधिकारियों के नामों पर चर्चा की गई। आखिर में ऋषि शुक्ला के नाम को हरी झंडी दिखा दी। सीबीआई निदेशक पद के लिए रजनीकांत मिश्रा, जावेद अहमद और एसएस देसवाल जैसे वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के नाम भी चर्चा में थे।

ग्वालियर में 23 अगस्त, 1960 को जन्मे ऋषि कुमार शुक्ला रायपुर, दामोह, शिवपुरी और मंदसौर में भी तैनात रहे हैं। इसके अलावा वे 2009-12 तक इंटेलिजेंस ब्यूरो में एडीजी थे। मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ऋषि कुमार शुक्ला को हटाकर वीके सिंह को सूबे के पुलिस महानिदेशक की कमान सौंपी। उसके बाद वे पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन के चेयरमैन बनाए गए।

ऋषि कुमार शुक्ला जब 2016 में प्रदेश के पुलिस महानिदेशक बने, तो उस समय भी पुलिस हाउसिंग बोर्ड के चेयरमैन थे। अब उन्हें सीबीआई निदेशक बनाया गया है, तो वे इसी पद पर हैं। कार्मिक मंत्रालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार, ऋषि कुमार शुक्ला दो साल के तय कार्यकाल के लिए सीबीआई के निदेशक नियुक्त किए गए हैं। वे पूर्व निदेशक आलोक वर्मा का स्थान लेंगे, जिन्हें 10 जनवरी को हटा दिया गया था। सीबीआई के दो शीर्ष अधिकारियों में छिड़े विवाद के बाद एम. नागेश्वर राव को एजेंसी के अंतरिम निदेशक का दायित्व सौंपा गया था।

LEAVE A REPLY