जयपुर/वार्ताराजस्थान के करौली जिले के हिंडौन कस्बे में मंगलवार को व्यापारियों द्वारा भारत बंद के दौरान आगजनी और तो़डफो़ड के दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर किए जा रहे प्रदर्शन के दौरान तनाव व्याप्त होने के बाद प्रशासन ने कफ्र्यू लगा दिया। जिला कलेक्टर अभिमन्यु सिंह ने कहा कि शहर में स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि शहर में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पुलिस बल तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में जिला प्रशासन ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है।भारत बंद के दौरान हुई आगजनी व तो़डफो़ड का विरोध करने मंगलवार सुबह से ही स़डकों पर भारी संख्या में लोग उतर गए और प्रदर्शन करने लगे। इसी दौरान उत्तेजित भी़ड ने जगह-जगह पथराव किया और भारतीय जनता पार्टी की विधायक राजकुमारी जाटव और पूर्व मंत्री भरोसी लाल जाटव के मकान में आग लगा दी। इससे पहले पुलिस द्वारा शहर में किए जा रहे पैदल मार्च के दौरान उपद्रवी भी़ड ने पथराव शुरू कर दिया। जिसे रोकने के लिए पुलिस ने पहले लाठी चार्ज और फिर आसूं गैस के गोले छोडे। इसके बावजूद भी़ड वहां डटी रही। पुलिस द्वारा छो़डे गए आसूं गैस का एक गोला समीप के एक सरकारी स्कूल में गिरा जिससे वहां दो दर्जन से अधिक छात्रों के घायल होने की सूचना भी मिली है। उल्लेखनीय है कि सोमवार को अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अधिनियम में संशोधन करने के खिलाफ आयोजित भारत बंद के दौरान हिंडोन में जमकर तो़डफो़ड और हिंसा हुई थी जिसमें व्यापारियों को भारी नुकसान हुआ। इसके विरोध में मंगलवार को व्यापारी समुदाय और संगठनों ने दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। इस दौरान हुई हिंसा और पथराव के कारण शहर में तनाव के हालात बन गए और प्रशासन को वहां कफ्र्यू लगाना पडा।

LEAVE A REPLY