दक्षिण भारत न्यूज नेटवर्कहासन । गुरुवार को हासन में विश्व शांति यात्रा-२०१८ के पहुंचने पर गाजे-बाजे के साथ वरघो़डा निकाला गया। यह यात्रा तमिलनाडु के कृष्णगिरि स्थित श्री पार्श्व पद्मावती शक्ति पीठ तीर्थधाम से निकली है, जो कि देश के ११ राज्यों के २८० शहरों में जाएगी। अगले वर्ष फरवरी माह में धाम में पीठाधिपति यतिवर्य डॉ.वसंतविजयजी की प्रेरणा से होने वाले ऐतिहासिक रुप से पार्श्व प्रभु की विशाल प्रतिमाओं के प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्व शांति उत्सव-२०१९ से पूर्व लगभग ११ माह की यात्रा पूर्ण कर पुनः कृष्णगिरि लौटेगी। हासन के एनआर सर्कल से इस ‘यात्रा-रथ’’ के निकले वरघो़डे ने शहर के बस स्टेण्ड, महावीर सर्कल, केबी रो़ड व गांधी बाजार होते हुए जैन मंदिर में प्रवेश किया। यात्रा से जु़डे दीपक शाह व कैलाश संकलेचा के मुताबिक इस वरघो़डे में संघ के अध्यक्ष देवराज पारलेचा, फूलचंद ताते़ड, वसंत बोहरा, अजीत, धनपाल, रमेश परमार, निर्मल धोका सहित आदिश्वर युवक मंडल, पद्मावती महिला मंडल व बालिका मंडल के पदाधिकारी-सदस्यों ने भाग लिया। पीठ के ट्रस्टी रिषभ चोरि़डया ने बताया कि हासन में ब़डी संख्या में जैन समाज के ही नहीं बल्कि अन्य समाजों के लोगों ने श्रद्धाभाव से इस यात्रा के रथ की अगवानी कर इसमें विराजित प्रभु पाश्वजी की प्रतिमा व विविध तीर्थों के वासक्षेप से भरे दिव्य कलश के दर्शन किए। उन्होंने बताया कि अजय गुरु ने विधिविधान संपन्न कराया।

LEAVE A REPLY