इस्लामाबाद/रायटरअमेरिका ने आतंकवादी संगठनलश्कर-ए -तैयबा के सरगना एवं मुंबई हमले के मास्टरमाइंडहाफिज सईद की कथित राजनीतिक पार्टी ’’मिल्ली मुस्लिमलीग’’(एमएमएल) को आतंकवादी पार्टी घोषित किया है। अमेरिका ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जब पाकिस्तान इस पार्टी को राजनीतिक दर्जा देने की कवायद में लगा है। अमेरिका लश्कर को बहुत पहले ही विदेशी और वैश्विकआतंकवादी संगठन घोषित कर चुका है और उसने हाफिज केसिर पर एक करो़ड अमेरिकी डॉलर का इनाम भी घोषित कररखा है। भारत ने अमेरिका के इस कदम का स्वागत किया है। हाफिज की राजनीतिक पार्टी एमएमएल उस समय चर्चा मेंआईथी जब उसने सितम्बर २०१७ के उप चुनाव में अपनेउम्मीदवार को चुनाव मैदान में उतारने की कोशिश की थी।पनामा पेेपर्स लीक मामले में सुप्रीम कोर्ट ने तत्कालीनपाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अपदस्थ कर दिया थाजिसके बाद खाली हुई सीट के लिए कआए गए उप चुनावमें एमएमएल ने अपना उम्मीदवार ख़डा करने का प्रयास कियाथा। अक्टूबर २०१७ को पाकिस्तान चुनाव आयोग नेएमएमएल को चुनाव ल़डने से यह कह कर मना किर दिया किउसके सम्पर्क आतंकवादी संगठन से हैं और यह पार्टी चुनावआयोग के साथ पंजीकृत नहीं हो सकती है लेकिन पिछले माहइस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने चुनाव आयोग को एमएमएलको पंजीकृत करने का आदेश दिया था।

भारत ने पाकिस्तान के मिल्ली मुस्लिम लीग (लश्कर ए तैयबा का उपनाम) को अमेरिका द्वारा विदेशी आतंकवादी संगठन करार दिए जाने का स्वागत किया। उसने कहा कि यह निर्णय दर्शाता है कि आतंकवादियों और आतंकवादी संगठनों को मुख्य धारा में शामिल करने की पाकिस्तान की कोशिशों को खारिज कर दिया गया है। अमेरिका के कदम पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) को आतंकवादी संगठन करार दिया जाना यह भी दर्शाता है कि पाकिस्तान अपने यहां आतंकवादी पनाहगाहों को ध्वस्त करने में विफल रहा है तथा भारत के इस रुख की पुष्टि करता है कि पाकिस्तान ने आतंकवादी संगठनों एवं आतंकवादियों के खिलाफ कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की है। मंत्रालय ने कहा, इसमें इस तथ्य को भी ध्यान में रखा गया है कि आतंकवादियों और आतंकवादी संगठनों को अपना नाम बदलकर पाकिस्तान की जमीन पर मुक्त रूप से काम करने की अनुमति है। अमेरिका ने मुम्बई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की अगुवाई वाले जमात उद दवा के राजनीतिक मोर्चे एमएमएल को आज विदेशी आतंकवादी संगठन करार दिया।

भारत ने पाकिस्तान के मिल्ली मुस्लिम लीग (लश्कर ए तैयबा का उपनाम) को अमेरिका द्वारा विदेशी आतंकवादी संगठन करार दिए जाने का स्वागत किया। उसने कहा कि यह निर्णय दर्शाता है कि आतंकवादियों और आतंकवादी संगठनों को मुख्य धारा में शामिल करने की पाकिस्तान की कोशिशों को खारिज कर दिया गया है। अमेरिका के कदम पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) को आतंकवादी संगठन करार दिया जाना यह भी दर्शाता है कि पाकिस्तान अपने यहां आतंकवादी पनाहगाहों को ध्वस्त करने में विफल रहा है तथा भारत के इस रुख की पुष्टि करता है कि पाकिस्तान ने आतंकवादी संगठनों एवं आतंकवादियों के खिलाफ कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की है। मंत्रालय ने कहा, इसमें इस तथ्य को भी ध्यान में रखा गया है कि आतंकवादियों और आतंकवादी संगठनों को अपना नाम बदलकर पाकिस्तान की जमीन पर मुक्त रूप से काम करने की अनुमति है। अमेरिका ने मुम्बई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की अगुवाई वाले जमात उद दवा के राजनीतिक मोर्चे एमएमएल को आज विदेशी आतंकवादी संगठन करार दिया।

Click here to enlarge image

Facebook Comments

LEAVE A REPLY