honey trap by isi
honey trap by isi

नई दिल्ली। अगर आप भी फेसबुक या सोशल मीडिया के किसी प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हैं तो कुछ बातों का ध्यान रखें, क्योंकि ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनके आधार पर जांच एजेंसियों ने खुलासा किया कि पाकिस्तान की आईएसआई लोगों को फांसने के लिए इन्हें एक हथियार की तरह काम में ले रही है। दरअसल भारत से हर युद्ध में मात खाने के बाद अब पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी को मालूम हो गया कि वह आमने-सामने की लड़ाई में भारत से बहुत कमजोर है।

अब वह रणनीति बदलकर सोशल मीडिया के ​माध्यम से भारत को नुकसान पहुंचाने की साजिश रच रही है। बीएसएफ का एक जवान इसका शिकार हो चुका है। उस पर पाकिस्तान के लिए जासूसी करने का आरोप है। खासतौर पर सेना और सुरक्षाबलों से जुड़े लोगों को तो विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।

भारत की जांच एजेंसियां आगाह कर चुकी हैं कि पाकिस्तान की आईएसआई अपने जाल में फंसाने के लिए हनीट्रैप का तरीका आजमाती है। इसमें संबंधित शख्स को किसी खूबसूरत महिला की तस्वीर युक्त आईडी से फ्रेंड रिक्वेस्ट आती है या उसकी किसी पोस्ट पर महिला की आईडी से कमेंट किया जाता है। अक्सर लोग इस झांसे में आ जाते हैं और उस फर्जी अकाउंट को अपनी फ्रेंडलिस्ट में जगह दे देते हैं।

इसके बाद उस अकाउंट के पीछे छुपा चेहरा बेहद योजनाबद्ध ढंग से बात शुरू करता है। धीरे-धीरे यह दोस्ती इतनी गहरी हो जाती है कि संबंधित शख्स उसे अपने कई राज़ बता देता है। ऐसी भी खबरें आ चुकी हैं कि आईएसआई पाकिस्तानी लड़कियों को प्रशिक्षण देकर सोशल मीडिया के माध्यम से भारतीय सैन्यकर्मियों को फंसाने की साजिश रच रही है। कई लोग उनके झांसे में आ भी चुके हैं। उन्होंने देश की गोपनीय सूचनाएं उन्हें दीं जो तुरंत आईएसआई तक पहुंच गईं। इस तरह किसी की एक गलती देश को बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है। लिहाजा सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते वक्त सावधानी रखना बहुत जरूरी है।

ये भी पढ़िए:
– बनने से पहले ही महागठबंधन में फूट, छत्तीसगढ़, मप्र और राजस्थान में कांग्रेस के साथ नहीं बसपा
– लघु बचत योजनाओं में निवेश पर मोदी सरकार ने दिया तोहफा, बढ़ाईं ब्याज दरें
– पाकिस्तान ने बुरहान समेत खूंखार आतंकियों पर जारी किए डाक टिकट, बताया ‘मासूम’ और ‘पीड़ित’
– 44 साल के शख्स ने 15 साल की लड़की से की दूसरी शादी, शरिया अदालत ने दी इजाजत

LEAVE A REPLY