* भोजन करते समय कच्चा सलाद खाएं। इससे शरीर को अतिरिक्त विटामिन तो मिलते ही हैं, साथ ही स्फूर्ति भी प्राप्त होती है।* बाजारों एवं दुकानों से लाए गए फलों को खाने से पूर्व भली-भांति धो लें क्योंकि इस तरह फलों में घुसे कीट हाथों से रग़डने के दौरान फल कीटाणुरहित हो जाते हैं।* आपने देखा होगा कि कभी-कभी कुछ व्यक्ति खाने के तुरन्त बाद काम में लग जाते हैं जो सरासर गलत है। खाना खाने के उपरान्त भागदौ़ड शुरू न करें। इससे किया गया भोजन शरीर को लाभ नहीं पहुंचाता। हां, यदि आप रात के भोजन के बाद कुछ देर रात तक टहलें तो यह अवश्य ही फायदेमंद साबित होगा।* भोजन करते समय हमेशा ध्यान रखें कि भोजन जल्दी-जल्दी न खाएं बल्कि धीरे-धीरे अच्छी तरह चबा कर खाएं।* सही मायनों में भोजन के कुछ पल बाद जल का सेवन करना उचित होता है परन्तु यदि भोजन के मध्य में आवश्यकता महसूस हो तो थो़डा जल पी सकते हैं। ग्रीष्मकाल में अधिकाधिक जल पीएं क्योंकि अधिक मात्रा में जल लेने से शरीर के विषैले तत्व पसीने के जरिए शरीर से बाहर हो जाते हैं।* देखने में आया है कि महानगरों में होटलों एवं छोटी-मोटी दुकानों में अक्सर भोजन में नमक कम और मिर्च अधिक डाली जाती है जिसका शरीर पर बहुत ही बुरा प्रभाव प़डता है इसलिए स्मरण रखें कि भोजन में नमक व मिर्च संयमित मात्रा में ही हों।* सर्वाधिक ध्यान देने योग्य बात यह है कि अपने आप को डिब्बाबंद और कृत्रिम खाद्य पदार्थों से दूर रखें। जहां एक ओर ये पचने में भारी होते हैं, वहीं दूसरी तरफ इनमें पौष्टिकता का भी अभाव होता है जो स्वस्थ शरीर के लिए हानिकारक है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY