काला नमक का प्रयोग अक्सर लोग स्वाद को दुगुना करने के लिए खाद्य पदार्थों में करते हैं। इस नमक का रोजाना सेवन करने वाले कई बीमारियों से दूर भी रहते हैं। हालांकि काला नमक का नाम सुनते ही यह जरूर लोग समझ जाते हैं कि पेट की समस्या दूर करने में बेहद कारगर है। यदि आप इसेे अपने भोजन में शामिल करते हैं तो पेट की तमाम बीमारियों सहित कई अन्य समस्या से भी दूर रहते हैं, जैसे कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज, डिप्रेशन आदि। आज हम आपको बता रहे हैं कि पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने के लिए काला नमक कितना फायदेमंद है। झ्य्घ्द्म ख्ररुर्ङैंडत्र द्यक्वद्मष्ठ द्बष्ठ्र फ्ब्य्द्भ·र्ैंयदि आपको पेट की समस्या अक्सर बनी रहती है या पेटदर्द से परेशान हैं तो काला नमक फायदेमंद हो सकता है। इसेे पानी में मिलाकर पीने से मुंह में लार वाली ग्रंथी को सक्रिय करने में मदद मिलती है। साथ ही अपच होने पर आराम पहुंचाता है। पेट के भीतर यह काला नमक हाइड्रोक्लोरिक एसिड और प्रोटीन को पचाने वाले एन्जाइम को उत्तेजित करने में सहायक होता है। काला नमक का घोल बनाकर नींबू के साथ पीने से पाचन तंत्र को मजबूत करता है। फ्ध्य्ख्र ·र्ष्ठैं फ्य्त्र् र्ज्चैंद्य ध्ष्ठ द्भष्ठ द्मद्ब·र्ैंखाना खाते वक्त सलाद खाना पसंद करते हैं तो सलाद में काला नमक का सेवन करना चाहिए। यदि आप सलाद में खीरा, गाजर, चुकंदर, कच्चा प्याज या फिर टमाटर खाते हैं तो काला नमक आपके लिए और भी फायदेमंद हो सकता है। सलाद तो आपको हेल्दी बनाता है, लेकिन काला नमक आपके पाचन तंत्र को सक्रिय रखता है। इसके अलावा ऐसा करने से मोटापा को भी कंट्रोल करने में मदद करता है। ज्ह्ठ्ठणक्कह्र ·र्ैंय् ख्रख्रश्च यदि आपके शरीर की मांसपेशियों या फिर जो़डों में दर्द बना रहता है तो काला नमक आराम दिला सकता है। जो़डों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए कप़डे में एक कप काला नमक डाल कर उसे बांध कर पोटली बनानी है। इसके बाद उसे किसी पैन में गरम करें और उससे जो़डों की सिकाई करें। इसे दिन में २ से ३ बार गरम करके सिकाई करना चाहिए।ख्स्फ् फ्ष्ठ च्रुणट्ट·र्ैंय्द्यय्अगर गैस से छुटकारा पाना है तो एक कॉपर को बर्तन को गैस पर चढाएं और उसमें काला नमक डाल कर थो़डी देर चलाएं। उसका रंग बदल जाए तब गैस बंद कर दें। फिर इसका आधा चम्मच लेकर एक गिलास पानी में मिक्स कर के पिएं। इससे आप गैस की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।प्ज्द्म ·र्ैंद्यत्रय् ब्स् ·र्ैंद्ब काला नमक स्वाद को ब़ढाने के अलावा मोटापा कम करने में भी सहायक होता है। काला नमक को एक कप या गिलास में पानी का घोल बनाएं, फिर एक चम्मच नींबू के रस को मिलाएं। प्यास लगने पर दिन में कई बार इसका घोल पिएं, ऐसा करने से आपके पेट में वसा एकत्रित नहीं होने देगा और न सिर्फ मोटापा रोकता है बल्कि वजन भी कम करता है। इतना ही नहीं, बल्कि पाचन को दुरुस्त कर शरीर की कोशिकाओं को पोषक तत्व पहुंचाता है। यदि आप साधारण नमक यूज करते हैंै तो साथ ही इस नमक का भी यूज करना चाहिए।

LEAVE A REPLY