ठ्ठणर्‍ब्य्ंठ्ठुष्ठप्रय्द्म ·र्ैंह् ख्ररूद्य ·र्ैंद्यष्ठ्र ·र्ैं·र्ैंठ्ठणक्कर्‍कक़डी में पानी की मात्रा बहुत अधिक होती है। इसमें ९५% पानी रहता है। गर्मी के मौसम में सबसे अधिक समस्या इसी बात की होती है कि बहुत जल्दी डीहाइड्रेशन हो जाता है। सिर्फ पानी पीने से भी कई बार काम नहीं बनता। इसलिए हमें जरूरत होती है ऐसी ची़जें खाएं जिससे हमारे शरीर की पानी की जरूरत भी पूरी हो। प्रतिदिन कक़डी का सेवन करने से शरीर में पानी की मात्रा पर्याप्त बनी रहती है और गर्मी में डिहाइड्रेशन से व्यक्ति बचा रहता है। यह शरीर से विषाक्त और अवांछित पदार्थों को निकालने में मदद करके शरीर को स्वस्थ और जलमिश्रित रखने में मदद करती है।ख्द्बर्‍श्च फ्ष्ठ ध्ठ्ठणक्कद्मष्ठ फ्ष्ठ द्बख्रख्र ·र्ैंद्यत्रर्‍ ब्स्कक़डी सिर्फ एक नहीं बल्कि फायदे के पूरे पैकेज के साथ आती है। खासतौर पर गर्मियों में होने वाली समस्याओं के लिए। गर्मियों में बहुत जल्दी सीने में जलन या हार्ट बर्न की समस्या हो जाती है। शरीर गर्माहट से नहीं ल़ड पाता। कक़डी खाने से इस ची़ज में काफी आराम मिलता है। कक़डी अंदरूनी ठंडक देती है।द्धढ्ढणक्कय्त्रय् ब्स् ब्य्ज्द्बय्गर्मियों में पेट की बीमारियां बहुत आम होती हैं, ये तो आपको मालूम ही होगा, लेकिन क्या आपको पता है कि रोज कक़डी खाने से पेट की बीमारी से बहुत हद तक राहत मिल जाता है, जैसे- कब़्ज, बदहजमी, अल्सर आदि। क्योंकि इसमें जल की मात्रा ़ज्यादा होने के कारण यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकाल देता है और उच्च फाइबर की मात्रा पेट को साफ करने में मदद करता है। साथ ही, इसमें जो इरेप्सिन नाम का एन्जाइम होता है वह प्रोटीन को सोखने में मदद करता है।फ्य्ैंफ्ह्र ·र्ैंर्‍ द्धख्रद्धरू ब्ह्त्रर्‍ ब्स् ख्ररूद्यअगर सांसों की बदबू आ रही हो तो कि कुछ मिनटों के लिए मुंह में कक़डी का टुक़डा रख लें क्योंकि यह जीवाणुओं को मारकर धीरे-धीरे बदबू निकलना कम कर देता है। आयुर्वेद के अनुसार पेट में गर्मी होने के कारण मुंह से बदबू निकलता है, कक़डी पेट को ठंडक प्रदान करने में मदद करती है।ज्ज्ध्ह्ंैंख् ्यड·र्ैंद्म ·द्द ्यध्ॅ ·र्ैं·र्ैंठ्ठणक्कर्‍कक़डी न सिर्फ सेहत बल्कि सुंदरता की भी दोस्त है। गर्मियों में त्वचा की बहुत समस्या हो जाती हैं जैसे कि टैनिंग, सनबर्न, रैशेज आदि। इस ची़ज में कक़डी फायदा पहुंचा सकती है। कक़डी खाने से रूखी त्वचा में नमी लौट आती है। इसलिए यह नैचरल मॉश्चराइ़जर का काम करती है। यह त्वचा से तेल के निकलने के प्रक्रिया को कम करके मुंहासों के निकलना कम करती है।ट्टय्स्र्य€फ्द्म द्धय्ब्द्य ्यद्म·र्ैंय्ध्त्रय् ब्स्जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि खीरे में पानी अत्यधिक होता है। कक़डी अधिक खाने पर विषैले पदार्थ टाक्सिक बाहर निकलते हैं। ऐसा भी माना जाता है कि इसी वजह से रोज कक़डी खाने से गुर्दे की पथरी खत्म हो जाती है। इसलिए कोशिश करें कि सलाद और सैंडविच में या फिर ऐसे ही कक़डी खूब खाएं। आपके शरीर के सब विषैले पदार्थ निकल जाएंगे।द्धय्ध्ह्र ृय्स्द्य द्मय्क्वरूद्म ·द्द ्यध्ॅ ृमच्णर्‍कक़डी में मौजूद तत्व सीलिशिया बालों और नाखूनों में चमक लाता है और इन्हें मजबूत करता है। सल्फर और सीलिशिया के कारण बाल तेजी से ब़ढते हैं। जिन लोगों की रूखे बालों की समस्या गर्मियों में और ब़ढ जाती है उन्हें इससे जरूर फायदा मिलेगा।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY