आपने देखा होगा कि कई लोग सोते वक्त खर्राटे लेने की आदत से खुद तो परेशान रहते ही हैं, साथ ही में उनकी वजह से उनके आस-पास सो रहे लोग भी परेशान होते हैं। एक शोध में पता चला है कि एक व्यायाम से आप इस दिक्कत से निजात पा सकते हैं और चैन की नींद सोने के साथ सुला भी सकते हैं। बता दें कि यह व्यायाम मुंह और जीभ से किया जाता है और इससे खर्राटें आने की संभावना बहुत कम हो जाती है। शोध में यह भी पाया गया है कि इस व्यायाम को करके खर्राटों को ३६ फीसदी और खर्राटों की तीव्र आवाज को ५९ फीसदी तक कम कर सकते हैं।अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ केंटुकी कॉलेज ऑफ मेडिसिन में स्लीप लेबोरेटरी के चिकित्सा निदेशक बारबारा फिलीप के अनुसार खर्राटे की समस्या से जूझ रही कई लोगों के लिए यह शोध एक बेहतरीन और नॉन इनवेसिव (बिना सर्जरी के) उपचार को प्रदर्शित करता है। खर्राटे से पीि़डत लोग अपनी जीभ के अगले सिरे को तालू की ओर दबाएं और फिर जीभ को वापस खींच लें। यह प्रक्रिया बार-बार दोहराएं। अब जीभ के अगले हिस्से को मुंह के निचले हिस्से और अगले दांत से स्पर्श कराते हुए जीभ के पिछले हिस्से को तालू की ओर दबाएं और स्वर ए का उच्चारण करते हुए तालू और अलिजिह्वा को ऊपर उठाएं।बता दें कि यह व्यायाम खर्राटे से पीि़डत ३९ मरीजों पर करवाया गया तो इसका बेहद सकारात्मक असर देखा गया। ब्राजील के यूनिवर्सिटी ऑफ साओ पाउलो में मुख्य लेखक जेराल्डो लॉरेंजी-फिल्हो का कहना है कि हमारे अध्ययन समूह में इस व्यायाम से खर्राटों को कम करने में बेहद मदद मिली।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY