alok verma and rakesh asthana

नई दिल्ली। सीबीआई में चल रही शीर्ष अफसरों की रार पर सरकार ने सख्त रुख अपनाया है। सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया गया है। अब एजेंसी की कमान नागेश्वर राव ने संभाली है। उन्हें सीबीआई का अंतरिम निदेशक नियुक्त किया गया है। राव ने बुधवार सुबह कार्यभार संभाल लिया। वे सीबीआई में बतौर संयुक्त निदेशक कार्यरत थे। राव 1986 बैच के ओडिशा कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। उनका ताल्लुक तेलंगाना के वारंगल से है।

इस संबंध में केंद्र द्वारा जारी एक पत्र भी वायरल हुआ है। इसमें नागेश्वर राव को आलोक वर्मा के स्थान पर नियुक्त करने का आदेश दिया गया है। सीबीआई द्वारा कथित 3 करोड़ के रिश्वत मामले में अपने ही विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद इसने काफी तूल पकड़ा और इस शीर्ष जांच एजेंसी की छवि प्रभावित होने लगी।

govt order for cbi
govt order for cbi

इसके मद्देनजर केंद्र ने यह फैसला लेकर दोनों अधिकारियों को छुट्टी पर भेज दिया। बता दें कि अस्थाना पर आरोप है कि उन्होंने कारोबारी मोईन कुरैशी से कथित तौर पर रिश्वत ली है। इस मामले में सीबीआई के एक अन्य अधिकारी डीएसपी देवेंद्र कुमार पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं। वहीं राकेश अस्थाना ​भी दिल्ली उच्च न्यायालय गए और यह मांग की कि उनके खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द की जाए। न्यायालय ने अंतरिम राहत दी है जिसके तहत उन्हें 29 अक्टूबर तक गिरफ्तार नहीं किया जा सकेगा। उसी दिन मामले की अगली सुनवाई होगी। तब तक मामले में यथास्थिति बनाए रखने के लिए कहा गया है।

न्यायालय ने आरोपी अफसर के मोबाइल फोन और लैपटॉप जब्त करने के आदेश दिए हैं। दूसरी ओर राकेश अस्थाना के वकील ने उनके खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर को रद्द करने की मांग की, जिसे न्यायालय ने खारिज कर दिया। कथित रिश्वतखोरी के इस मामले में कई लोग लपेटे में आ रहे हैं।

ये भी पढ़िए:
– सात दिन तक स्मार्टफोन चलाती रही महिला, टेढ़ी हो गईं अंगुलियां
– उप्र पुलिस ने की महिलाओं से अपील- करवा चौथ पर पति को हेलमेट पहनाएं, लंबी उम्र पाएं
– वीडियो: प्रचार करते कांग्रेस विधायक बोले- ‘आपको मेरी इज्‍जत रखनी है, पार्टी गई तेल लेने’
– शिवपाल यादव की पार्टी को मिली मान्यता, अब सपा से भिड़ंत की तैयारी

LEAVE A REPLY