जोधपुर/दक्षिण भारतदुर्गा पूजा के आखिरी दिन शुक्रवार को जोधपुर में बंगाली समाज की महिलाओं ने मां दुर्गा को सिन्दूर अर्पित किया। इसके पश्चात दुर्गा बा़डी में महिलाओं ने सिन्दूर खेला परम्परा के तहत एक-दूसरे के सिन्दूर लगा उनके सुहाग की लम्बी आयु की कामना की। आज सुबह से ब़डी संख्या में बंगाली समाज की महिलाएं नेहरू पार्क के पीछे स्थित दुर्गा बा़डी में एकत्र हो गई। उन्होंने वहां मां दुर्गा की पूजा की। इसके पश्चात उन्होंने पान के पत्ते से मां दुर्गा के गाल पर सिन्दूर लगाया। फिर उनकी मांग में और ललाट पर सिन्दूर लगा मिठाई का भोग लगाया।पूजा करने के बाद सभी महिलाओं ने आपस में एक-दूसरे के गालों पर सिन्दूर लगाया। धार्मिक मान्यता है कि मां दुर्गा नवरात्रा में अपने मायके पृथ्वी पर रहने आती है। नौ दिन यहां रहने के बाद दसवें दिन वे अपने ससुराल विदा होती है। उनके विदाई के समारोह को यादगार बनाने के लिए सिन्दूर खेला की रस्म की जाती है। इसके पीछे मान्यता है कि बेटी ससुराल के लिए विदा हो रही है। उसका सुहाग व खुशियां बरकरार रहे। महिलाएं मां दुर्गा के सिन्दूर लगा अपने सुहाग की लम्बी आयु की कामना करती है।

LEAVE A REPLY