बेंगलूरु/सोजत/दक्षिण भारत मरुधर केसरी श्री मिश्रीमलजी की दीक्षा शताब्दी, वरिष्ठ प्रवर्तक श्री रुपचंदजी ‘रजत’’ की दीक्षा हीरक जयंती व अक्षय तृतीया पारणा कार्यक्रम त्रिवेणी संगम समारोह के रुप में राजस्थान के सोजत शहर में मनाया जा रहा है। इस वृहद स्तर के आयोजन को लेकर सोजत में ़विशाल स्तर पर तैयारियां चल रही हैं। सोमवार को अनेक संतांे के सान्निध्य में नवकार महामंत्र के जाप एवं धार्मिक उल्लास से कलश च़ढाई का कार्य सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम की विविध व्यवस्थाओं के लिए गठित समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष केसरीमल बुऱड, सोजत समिति के अध्यक्ष नवरतनमल सांखला, उपाध्यक्ष भंवरलाल पगारिया, मंत्री पारसमल लो़ढा, शांतिलाल लो़ढा, नेमीचंद दलाल व अन्य लोगों ने सोजत में सम्पूर्ण कार्यक्रम की व्यवस्थाओं का जाय़जा लिया।स्थानीय मरुधर केसरी स्थानकवासी जैन गुरु सेवा समिति ट्रस्ट के तत्वावधान में अगले सप्ताह १६, १७ व १८ अप्रैल को आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में अनेक साधु-साध्वीवृंद का सान्निध्य प्राप्त होगा। मरुधर केसरी स्थानकवासी जैन गुरु सेवा समिति ट्रस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष केसरीमल बुऱड के नेतृत्व में बेंगलूरु से १८ बोगी की स्पेशल रेल शनिवार को यहां के यसवंतपुर रेलवे स्टेशन से सोजत के लिए रात्रि ९ बजे रवाना होगी। बुऱड ने कहा कि यह कार्यक्रम गुरु भक्ति व गुरु श्रद्धा से परिपूर्ण अनूठा व भव्य आयोजन होगा, जिसमें देश भर के श्रद्धालु ब़डी संख्या में भाग लेंगे।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY