चेन्नई। संतश्री ललितप्रभसागरजी एवं चन्द्रप्रभसागरजी का रविवार को शहर के वेपेरी में नगर-प्रवेश होगा। प्रवेश समारोह के साथ ही वेपेरी, एटकिंसन रो़ड स्थित गौतम किरण में १० दिसंबर से ३१ दिसम्बर तक सुबह ९ बजे से दिव्य सत्संग और आध्यात्मिक प्रवचनों की ज्ञान गंगा बहेगी। संतगण इस २१ दिवसीय सत्संगमाला के जरिए जन-मानस को जीवन-निर्माण तथा व्यक्तित्व-विकास के बेहतरीन गुर सिखाएंगे। संतजन सकल जैन समाज के तत्वावधान में आदिनाथ जैन ट्रस्ट के आग्रह पर गौतम किरण में विराट सत्संग एवं प्रवचनमाला कर रहे हैं । सर्वधर्म सद्भाव से जु़डे इन संतों के प्रवचनों में सर्वसमाज के लोग शामिल होते हैं तथा ये हर विषय पर प्रवचन देते हैं । बेंगलूरु से पदविहार कर चेन्नई पहुंच रहे संतवृंदों की जानकारी देते हुए आदिनाथ जैन ट्रस्ट के महामंत्री मोहन जैन ने बताया कि दोनों संत रिश्ते में सगे भाई हैं और उनका भ्रातृत्व पे्रम समाज के लिए आदर्श है। वे जितना मिठास से जीवन जीने की पे्ररणा देते हैं उतना ही अपने जीवन में पे्रम और मिठास को घोले रखते हैं। पूरे देशभर में लगभग चालीस हजार किलोमीटर की पदयात्रा कर चुके इन दोनों संतों की संस्कार-निर्माण, व्यक्तित्व-विकास और जीवन-मूल्यों पर दी गई प्रेरणाएं जनमानस में नई ऊर्जा का संचार करती हैं। उन्होंने बताया कि अपनी प्रभावी प्रवचन शैली के लिए पूरे देश भर में लोकप्रिय इन दोनों संतों के जीवन और व्यवहार में धार्मिक समरसता की अद्भुत शक्ति है। मोहन जैन के मुताबिक १० दिसंबर को नगर प्रवेश के दौरान विराट एवं भव्य सत्संग शोभायात्रा के साथ राष्ट्रसंतों की चेन्नई आगमन पर भव्य अगवानी की जाएगी। इस दिन प्रातः ८ बजे महाविदेह सिमंधर स्वामी जैन मंदिर, सुब्बानायडु चुल्ले से नगर-प्रवेश एवं सत्संग की शोभायात्रा निकलेगी, जिसके गौतम किरण पहुंचने पर संतों का नागरिक अभिनंदन होगा।

LEAVE A REPLY