मैसूरु/दक्षिण भारतस्थानीय सिद्धार्थनगर स्थित पार्श्ववाटिका से विहार कर आचार्यश्री रत्नाकरसूरीश्वरजी म.सा. चामुंडी पहा़डी पर स्थित मैसूरु पिंजरापोल गौशाला पहुंचे तथा गौशाला का अवलोकन किया। उपाध्यक्ष हंसराज पगारिया ने गौशाला की गतिविधियों के बारे में जानकारी दी। आचार्यश्री ने गाय एवं गौशाला के महत्व पर प्रकाश डाला। ट्रस्ट के सचिव महावीरचंद सांखला ने संचालन किया। संतश्री यहां से पदविहार कर कुंथुनाथ जिनालय पहुंचे। यहां अपने प्रवचन में उन्होंने कहा कि सुख दुःख को पचाने की ताकत का नाम धर्म है। आचार्यश्री ने कहा कि मन को ज्ञान के माध्यम से मजबूत बनाया जा सकता है । गुणों से महान व्यक्ति परलोक की सोचता है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति किसी का आदर सत्कार करे या ना करे मगर किसी का अपमान नहीं करना चाहिए। कार्यक्रम में चामराज विधान सभा क्षेत्र के विधायक एल नागेंद्र ने आचार्यश्री का आशीर्वाद लिया, विधायक का संघ की ओर से तिलक कर, माल्यार्पण कर व शॉल ओ़ढाकर सम्मान किया गया। इस अवसर पर सुमतिनाथ जैन श्वेतांबर मूर्तिपूजक संघ के अध्यक्ष अशोक कुमार दांतेवाि़डया, कोषाध्यक्ष मंगलचंद पोरवाल, सुमतिनाथ नवयुवक मंडल के अध्यक्ष प्रवीण लुंक़ड, सदस्य अशोक सालेचा, गौतम सालेचा, मैसूरु पिंंजरापोल सोसायटी के अध्यक्ष उम्मेदराज सिंघवी, सचिव महावीरचंद सांखला, कोषाध्यक्ष महेंद्र ला़े़ढा, सदस्य मोडाराम माली मंगलाराम पुरोहित व मोडाराम पुरोहित सहित अनेक लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY