दक्षिण भारत न्यूज नेटवर्कबेंगलूरु। किसी भी संगठन अथवा समाज में कार्यकत्र्ताओं की दृ़ढ आस्था, विश्वास और संकल्प हर असंभव कार्य को भी संभव कर सकता है। साथ ही सही समय पर लिया गया निर्णय व किया गया कार्य इतिहास का दुर्लभ दस्तावेज बन जाता है। यह विचार थे तेरापंथ धर्मसंघ की साध्वीश्री कचंनप्रभाजी व साध्वीश्री मधुस्मिताजी के। वे रविवार की सुबह यहां के गांधीनगर स्थित तेरापंथ सभा भवन में तेरापंथ निर्देशिका-२०१८ के विमोचन अवसर पर अपना सान्निध्य प्रदान करते हुए उद्बोधन दे रहीं थीं। कंचनप्रभाजी ने कहा कि श्रम और समर्पण भाव से किए गए कार्य में सफलता मिलना निश्चित है। उन्होंने कहा कि इस निर्देशिका में वर्ष १९४५ में गठित हुई तेरापंथ सभा के साथ विविध कार्यकारिणी समितियों व चातुर्मास आयोजनों सहित विस्तृत संकलन कर ऐतिहासिक कार्य किया गया है। मधुस्मिताजी ने कहा कि अगले वर्ष यहां आचार्यश्री महाश्रमणजी के आगमन से पूर्व इस निर्देशिका के विमोचन ने संघ के पदाधिकारियों व सदस्यों ने टीमभावना से श्रावकत्व की भूमिका का महत्वपूर्ण निर्वहन किया है। उन्होंने कहा कि बेंगलूरु के तेरापंथ धर्मसंघ के सभी परिवार गुरु इंगित दिशा निर्देशों का पालन करते हुए सदैव प्रगति पथ पर आरु़ढ होते रहें तथा मनी, मैन और मैनेजमेंट पॉवर के साथ तेरापंथ सभा भी कीर्तिमान ग़ढती रहे। कार्यक्रम में सभी का स्वागत तेरापंथ सभा के अध्यक्ष कन्हैयालाल गिि़डया ने किया। उन्होंने कहा कि आचार्यश्री के आशीर्वाद और ऊर्जा से ही साधु-साध्वियों की निश्रा में हम संघ व समाज के अनेक कार्यों को संपन्न कर पाते हैं। गिि़डया ने निर्देशिका के प्रकाशन में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रुप से हर प्रकार का सहयोग देने वाले सभी जनों का आभार प्रकट किया। इस अवसर पर निर्देशिका के सभी सौजन्यकर्ताओं व नरेन्द्र नाहटा के नेतृत्व में बनी १२ सदस्यीय टीम का सत्कार किया गया। सभा में बीते ४० वर्षों से सेवाएं दे रहे व अगले वर्ष सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारी रामलाल को भी एक लाख रुपए का चेक प्रदान कर तेरापंथ सभा के पदाधिकारियों द्वारा सम्मानित किया गया। इस मौके पर देवराज नाहर, सोहनलाल माण्डोत, बहादुर सेठिया, दीपचंद नाहर, रामलाल गन्ना, प्रकाश लो़ढा, धर्मीचंद धोका, अनीता गांधी सहित सभा की विविध सहयोगी संस्थाओंे तथा उपनगरों के पदाधिकारी व सदस्य ब़डी संख्या में मौजूद रहे। साध्वीवृंद द्वारा अष्टकम मंगलाचरण से शुरु हुए कार्यक्रम का संचालन सभा के मंत्री रमेश कोठारी ने किया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY