बेंगलूरु/दक्षिण भारतशहर के कांठा प्रांत युवक परिषद ट्रस्ट के तत्वावधान में २१ व २२ अप्रैल को कांठा प्रांत प्रीमियर लीग ‘मोतीलाल मुणोत कप’’ प्रतियोगिता का आयोजन ओकली पुरम स्थित रेलवे ग्राउंड पर किया जा रहा है। इस क्रिकेट प्रतियोगिता में कांठा प्रांत के युवा खिलाि़डयों की आठ टीम अमरदीप इन्फीनिटी, चाण्डोदिया चैलेंजर, गांधी वारियर्स, जिनेश्वर ब्लास्टर, पैशन इलेवन, शेपॉन, सुदर्शन टूर्स इलेवन, वर्धमान ड्रीम्स इलेवन टीम भाग ले रही हैं। १० ओवर वाली इस प्रतियोगिता के मुख्य प्रायोजक महेन्द्रकुमार हंसराज मुणोत परिवार, भोजन प्रायोजक उत्तमचन्द मनीषकुमार कोठारी परिवार, यूनिफार्म प्रायोजक सुकीबाई कपूरचन्द चाण्डोदिया परिवार, नीलामी दिवस के प्रायोजक अमरचन्द गौतमचन्द डागा, रिफ्रेशमेंट प्रायोजक महेन्द्र रमेश खिंवसरा परिवार वाले हैं। २१ व २२ को आठ टीमों के दो गु्रप में लीग मैच होंगे तथा २२ को ही सेमीफाइनल व फाइनल मैच होंगे ।रविवार को इस प्रतियोगिता की ट्रॉफी तथा विभिन्न टीमों की यूनीफार्म का विमोचन मुख्य प्रायोजक मारुति मेडिकल्स के महेन्द्र मुणोत, केपीपीएल के आयुक्त शांतिलाल सुराणा, दक्षिण भारत राष्ट्रमत के समूह सम्पादक श्रीकांत पाराशर, श्रीरामपुरम संघ के अध्यक्ष शांतिलाल खिंवसरा, ताराचन्द गुगलिया, टी-शर्ट प्रायोजक शांतिलाल चाण्डोदिया ने किया। परिषद की ओर से सभी अतिथियों का सम्मान किया गया। सबसे पहले प्रिया टपरावत ने मंगलाचरण किया। इस मौके पर कार्यक्रम का संचालन करते हुए परिषद ट्रस्ट के सिद्धार्थ बोहरा ने प्रतियोगिता की जानकारी दी ।उपस्थित युवाओं को संबोधित करते हुए दक्षिण भारत राष्ट्रमत के समूह सम्पादक श्रीकांत पाराशर ने कहा कि जिस समाज का युवा अपने अधिकारों के प्रति जागरुक और कर्त्तव्यों के निर्वहन करने का संकल्प अपने हाथ में ले ले तो उस समाज को प्रगति की राहों पर ब़ढने से कोई नहीं रोक सकताा। जैन समाज का युवा वर्ग अन्य समाजों की अपेक्षा धार्मिक, सामाजिक कार्यक्रमों में जु़डे होने के साथ साथ खेले जैसे बहुआयामी कार्यक्रम में ज्यादा सक्रिय है जिसका साक्षात उदाहरण आज के इस कार्यक्रम में युवा वर्ग की उपस्थिति है। पाराशर ने कहा कि यदि हर समाज युवा वर्ग की रुचि के कार्यक्रम आयोजित करना प्रारंभ कर दे तो उस समाज का युवा अपने आप ही समाज की मुख्य धारा से जु़डने लगेगा, समाज को भी चाहिए कि वे युवा वर्ग की रुचि और प्राथमिकता को समझंे। उन्होंने कांठा प्रांत युवक परिषद द्वारा आयोजित क्रिकेट प्रतियोगिता के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि इस प्रकार के आयोजनों से युवाओं में परस्पर सामंजस्य व मेलमिलाप ब़ढने व ब़ढाने का मौका मिलता है। पाराशर ने खेलों के साथ साथ भविष्य में व्यवसायिक सेमिनार का आयोजन करने की भी सलाह दी। शांतिलाल सुराणा ने क्रिकेट प्रतियोगिता के आयोजन की सराहना करते हुए युवाओं के लिए एक सशक्त प्लेटफार्म बताया। प्रतियोगिता के मुख्य प्रायोजक महेन्द्र मुणोत ने कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का वास होता है और व्यक्ति का शरीर खेल से ही स्वस्थ रहता है। उन्होंने कहा कि समाज के युवाओं को खेल के माध्यम से जो़डने का परिषद का यह प्रयास बहुत ही सराहनीय है। उन्होंने कहा कि जो स्वयं के लिए जीते हैं वे सच्चे मानव नहीं होते अपितु जो दूसरों के लिए जीते हैं वे ही सही मायने में सच्चे मानव होते हैं। परिषद ने मानवसेवा के कार्य कर अपनी एक अलग पहचान बनाई है और अब खेल के क्षेत्र में भी अपना कदम रखा है। शांतिलाल खिंवेसरा ने कहा कि यदि युवा शक्ति कुछ ठान ले तो वह उसे पूरा करके ही दम लेती है। उन्होंने होश के साथ जोश व ब़डे बुर्जुगों के अनुभवों को भी तवज्जो देने की बात कही। परिषद ट्रस्ट के देवराज कोठारी ने पूरी प्रतियोगिता की रुपरेखा बताई। कार्यक्रम के मध्य में मुख्य प्रायोजक व अतिथियों ने केपीपीएल प्रतियोगिता के मोतीलाल मुणोत कप का अनावरण किया तथा सभी आठों टीम के मालिकों के साथ मिलकर विभिन्न टीमों की टी-शर्ट का लांच किया। इस विमोचन कार्यक्रम के बाद आठों टीमों के गु्रप व विभिन्न लीग मैचों का निर्धारण लाटरी के माध्यम से पूरी पारदर्शिता के साथ किया गया। कार्यक्रम के अंत में मुख्य प्रायोजक परिवार के हंसराज मुणोत ने कहा कि किसी भी समाज व देश में कोई भी खेल स्पर्धा आपसी ल़डाई के लिए नहीं अपितु आपसी सामन्जस्य व मेलमिलाप व ब्रांडिंग ब़ढाने के लिए की जाती है और ऐसा ही प्रयास कांठा प्रांत के युवकों ने किया है। उन्होंने कहा कि किसी भी संगठन का विकास तभी होता है जब उसमें राजनीति नहीं घुसती है और ऐसा ही बिना राजनीति व नाम की चाह वाला संगठन है कांठा प्रांत युवक परिषद ट्रस्ट। कार्यक्रम के अंत में केपीपीएल के आयुक्त शांतिलाल सुराणा ने सभी को धन्यवाद दिया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY