लिंंगराजपुरम आईमाता मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव का आगाज 11 से

0
308

  • धर्मगुरु दीवान साहब सहित उपराष्ट्रपति, केंद्रीय मंत्री सहित अनेक अतिथि करेंगे शिरकत 

बेंगलूरु। यहां सीरवी सेवा संघ ट्रस्ट लिंगराजपुरम के तत्वावधान में केएसएफसी लेआउट स्थित श्वेत शिलाओं से नवनिर्मित श्री आईमाताजी मंदिर का पाट व प्राण-प्रतिष्ठा का सप्तदिवसीय महोत्सव 11 फरवरी से शुरु होगा। इस नवनिर्मित भव्य शिखरबद्ध मंदिर में श्री आईमाताजी की पाट गादी व अखण्ड ज्योत की स्थापना, जगदंबा स्वरुप श्री आईमाताजी, भगवान श्री गणेशजी, श्री हनुमानजी, श्री भेरुजी एवं श्री राधाकृष्णजी की मूर्तियों की प्राण-प्रतिष्ठा का कार्यक्रम 17 फरवरी को आई पंथ के धर्मगुरु श्री दीवान साहब माधवसिंहजी, श्री पुनाबाबाजी व अन्य संत-महात्माओं के सान्निध्य में होगा, इस अवसर पर अनेक अतिथियों की गरिमामय उपस्थिति भी रहेगी।

संघ के अध्यक्ष पी.लक्ष्मण पंवार ने बताया कि अगले रविवार को प्रातः 11 बजे जाजम स्थापना से कार्यक्रम का आगाज होगा। सोमवार को सुबह 8 बजे से गणपति एवं नवग्रह पूजन-हवन व प्रधान संकल्प आदि शाम 6 बजे तक होंगे, इस समय में ही मंगलवार को महाशिवरात्रि शिव रुद्र पूजन-हवन, बुधवार को मातृका व महालक्ष्मीजी का पूजन-हवन होगा। गुरुवार को फाल्गुन वदी अमावस्या के दिन वास्तुशांति हवन तथा शुक्रवार को प्रातः 9.30 बजे से धर्मगुरुश्री दीवान साहब के सान्निध्य में शोभायात्रा निकाली जाएगी। इसमें श्री आईमाताजी का धर्मरथ भैल एवं दीवान साहब का बधावा कलश का कार्यक्रम होगा। यह भव्य शोभायात्रा एचबीआर लेआउट स्थित दक्षिण अयोध्या खेलकूद मैदान से रवाना होकर करीब 5 किमी. तक तय किए गए मार्ग से होते हुए पुनः नवनिर्मित आईमाताजी मंदिर पहुंचेगी। इसी दिन मंदिर में प्रातः 8 बजे से आईमाता, दुर्गापूजन, चण्डीयज्ञ, दण्ड, ध्वजा, मोडा, मोबण, तोरण पूजन इत्यादि कार्यक्रम विधिविधान से प्रधान आचार्यश्री पंडित प्रेमप्रकाशजी दवे (जोधपुर) के निर्देशन में अनेक उपाचार्योे के द्वारा संपन्न कराए जाएंगे।

संघ के सचिव अमरचंद सानपुरा ने बताया कि 13 फरवरी से 16 फरवरी तक प्रतिदिन शाम को दक्षिण अयोध्या खेलकूद मैदान में भजन संध्या व सांस्कृतिक बेला तथा विभिन्न चढ़ावे की बोलियों का क्रम सुचारु रुप से चलेगा। भजन संध्या में रोजाना अनेक मशहूर भजन गायक कलाकारों की टीम भक्तिमयी प्रस्तुतियां देंगी। पंवार के मुताबिक महोत्सव का मुख्य कार्यक्रम शनिवार को होगा। ब्रह्ममुहूर्त में अलसुबह 3 बजे से शुरु होकर मूर्तियों की प्राण-प्रतिष्ठा, पाट गादी, अखण्ड ज्योत, ध्वजा, कलश व ईण्डा स्थापना, महाकुम्भाभिषेक व महाआरती प्रातः 9 बजे तक संपन्न होगी। प्रथम जन दर्शन 9.15 बजे से होगा। इसी अवसर पर सुबह 10.15 बजे से हेलिकॉप्टर से पुष्पवर्षा की जाएगी। तत्पश्चात्‌ 11 बजे से दक्षिण अयोध्या खेलकूद मैदान में धर्मसभा व अतिथियों के सत्कार का कार्यक्रम होगा।

धर्मगुरु श्री माधवसिंहजी के सान्निध्य में होने वाले इस कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गयाहै, जबकि समारोह की अध्यक्षता अखिल भारतीय सीरवी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय विधि एवं न्याय व कॉर्पोरेट कार्य मंत्री पीपी चौधरी करेंगे। विशिष्ट अतिथियों के रुप में केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंतकुमार, केंद्रीय सांख्यिकी व योजना क्रियान्वयन मंत्री सदानंद गौड़ा, कर्नाटक सरकार के शहरी विकास मंत्री केजे जॉर्ज, राजस्थान सरकार के भूजल विभाग मंत्री सुरेन्द्र गोयल, बेंगलूरु मध्य के भाजपा सांसद पीसी मोहन, राज्यसभा सदस्य केसी राममूर्ति, कृष्णराजपुरम के विधायक बैरती बसवराज, मारवाड़ जंक्शन के विधायक केसाराम चौधरी, पाली के जिलाप्रमुख पेमाराम सीरवी, बीबीएमपी में नेता प्रतिपक्ष पद्‌मनाभ रेड्‌डी, पार्षद लावण्या गणेश रेड्‌डी, पार्षद आनंद, सर्वज्ञानगर भाजपाध्यक्ष एमसी श्रीनिवास, कम्मनहल्ली के पार्षद डी.मुनिलक्षम्मा व समाजसेवी एमएन रेड्‌डी शिरकत करेंगे। महोत्सव के तैयारियों में संघ के सभी सदस्य जुटे हुए हैं तथा सभी ने इस कार्यक्रम में समाजबंधुओं से अधिकाधिक संख्या में समयानुसार सपरिवार पहुंचने की अपील की है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY