महामस्तकाभिषेक महोत्सव : तीर्थयात्रियों-पर्यटकों के लिए जलक्रीड़ा का इंतजाम

0
220

श्रवणबेलागोला। कर्नाटक पर्यटन विभाग की ओर से महामस्तकाभिषेक महोत्सव के दौरान तीर्थयात्रियों और पर्यटकों के लिए जनीवरा जलाशय में जलक्रीड़ा का इंतजाम किया है। यह जलाशय मुख्य शहर से चार किमी की दूरी पर है।

पर्यटन विभाग ने नौकायन तथा अन्य 13 जल क्रीड़ाओं के लिए 50 लाख रुपए खर्च किया है। हालांकि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा बुधवार उद्‌घाटन करने के बावजूद जलाशय में नौकाओं का आना बाकी है। पर्यटन विभाग के सहायक निदेशक यू जितेंद्र नाथ ने कहा कि सारी तैयारियां हो चुकी हैं, अगले दो दिनों में जल क्रीड़ा के कार्यक्रम औपचारिक रूप से शुरू किए जाएंगे।

विभाग ने कारवाड़ स्थित एक जलक्रीड़ा एजेंसी को इसका जिम्मा दिया है, जो कई तरह के जलक्रीड़ाओं का आयोजन करेगी। अगले पांच वर्षों के लिए विभाग और एजेंसी के बीच यह समझौता हुआ है। एजेंसी की जो कमाई होगी, उसका 35 प्रतिशत हिस्सा विभाग को जाएगा।

विभाग के सहायक निेदेशक ने बताया कि जलाशय से सटे हुए लगभग तीन एकड़ सरकारी जमीन को इसकी संरचना के लिए विकसित किया गया है। निजी एजेंसी को प्रशासन ने पांच वर्षों के लिए इसके संचालन और व्यवस्थापन का जिम्मा दिया गया है।

महामस्तकाभिषेक के दौरान राज्य सरकार ने हेलिकॉप्टर सेवा के लिए केंद्र सरकार के पवनहंस लिमिटेड से भी बातचीत की है। हेलिकॉप्टर की यह उड़ान 8-10 मिनट की होगी, जो पूरे श्रवणबेलागोला का हवाई दर्शन कराएगी। विभाग के अधिकारी ने कहा कि हम लोग इस उड़ान की सीमा बेलूर और हेलेबीडु जैसे पर्यटन स्थलों तक बढ़ा देना चाहते हैं्‌।इस सेवा की बुकिंग ऑनलाइन भी की जा सकती है। हासन जिला प्रशासन ने पर्यटकों के लिए महामस्तकाभिषेक महोत्सव के दौरान श्रवणबेलागोला के थ्री-डी दर्शन का भी इंतजाम किया है। गोमटेश्वर बाहुबली महामस्तकाभिषेक सहित मूर्ति के चारों तरफ की गतिविधियों को देखने के लिए एक मोबाइल ऐप भी बनाया गया है। इसके अलावा प्रशासन ने विशेष थ्री-डी चश्मे से कला दीर्घा को देखने की भी सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इस कला दीर्घा में अनोखी तस्वीरें देखने को मिलेंगी, जो कि बेंगलूरु के सुविख्यात फोटोग्राफी संघ ने थ्री-डी कैमरे से खींची गयी हैं। विभिन्न तकनीक के जरिए बाहुबली की मुस्कान, महामस्तकाभिषेक के विभिन्न समारोह, विंध्यगिरि, चंद्रगिरि पर्वत के खूबसूरत दृश्य, चिक्काबेट्टा के 14 बसादी, त्याग स्तंभ, मानस्तंभ, जैन मठ की चित्रकारी, देवी कुसमंदिनी, गजलक्ष्मी, चिक्कादेव राजा, वाडियार कल्याणी, गुल्ला कायाजी, ललिता जलाशय के आकर्षण भी दिखाए जाएंगे।

श्रवणबेलागोला थ्री डी प्रदर्शनी में शांति का संदेश देनेवाले जैन काशी के इतिहास और परंपरा को भी दिखाया जाएगा। इस स्थान की खूबसूरती को देखने और इसका लुत्फ उठाने के लिए तीर्थयात्रियों और पर्यटकों के लिए यह एक बड़ा अवसर है। महामस्तकाभिषेक महोत्सव के विशेष अधिकारी बीएन वरप्रसाद रेड्‌ही ने बताया कि इस अवसर के लिए लगभग 6 लाख रु. का खर्च करके लगभग सौ तस्वीरें खींची गई हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY