नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने त्रिपुरा, नागालैंड और मेघालय के चुनाव परिणामों को केन्द्र सरकार की कार्यशैली एवं पार्टी संगठन की शक्ति के सहारे लोगों का विश्वास जीतने में कामयाबी का प्रमाण बताते हुए शनिवार को कहा कि वह पूर्वोत्तर की जनता के प्यार एवं आशीर्वाद को ब्याज समेत विकास की शक्ल में वापस करेंगे। मोदी ने यहां भाजपा मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, मैंने ऐसा सुना है कि भवन निर्माण के समय वास्तुशास्त्र के जानकार लोगों का फोकस उत्तर-पूर्व कोने पर होता है। इमारत का पूर्वोत्तर वाला कोना सबसे महत्वपूर्ण होता है। मुझे खुशी है कि देश का उत्तर-पूर्वी कोना विकास की यात्रा का नेतृत्व करने के लिए आगे आया है। उन्होंने कहा, हम जब भी प्रचार के लिए पूर्वोत्तर गए तो हमने कहा था कि आप जो प्यार और आशीर्वाद दे रहे हैं, हम ब्याज समेत लौटाएंगे। आज भी कह रहे हैं कि आपके प्यार और आशीर्वाद को विकास की शक्ल में ब्याज के साथ लौटाएंगे। तभी चैन से बैठेंगे। प्रधानमंत्री ने पूर्वोत्तर में भाजपा के शानदार प्रदर्शन के राज का खुलासा करते हुए कहा कि उनकी सरकार बनने के बाद २०१४ में दिल्ली में पूर्वोत्तर के बच्चों के साथ अत्याचार का मामला उठा था। तब गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सक्रियता से कदम उठाए थे और उन बच्चों के साथ नियमित बैठकें करके उनमें विश्वास कायम किया। इसके बाद दिल्ली पुलिस में पूर्वोत्तर के लोगों की भर्ती का कोटा तय किया गया। यह पूर्वोत्तर को पहला राजनीतिक संदेश था कि दिल्ली में ऐसी सरकार आ गई है जो उनकी परवाह करती है।

LEAVE A REPLY