इम्फाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज पूर्वोत्तर को भारत के विकास का नया इंजन बताया और कहा कि जब तक पूर्व का विकास पश्चिम के बराबर नहीं होता तब तक देश के विकास की गाथा अधूरी रहेगी। मोदी ने क्षेत्र में आधारभूत ढांचे के विकास पर जोर दिया और कहा कि वर्ष २०१४ में मणिपुर में घोषित राष्ट्रीय राजमार्ग की लंबाई १२०० किलोमीटर थी। उन्होंने कहा, लेकिन पिछले चार वर्षों में हमने और ४६० किलोमीटर लंबे स़डक मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग के तौर पर घोषित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि अब आठ में से सात राज्य रेल नेटवर्क से जु़ड गए हैं और शेष राज्यों की राजधानियों को ब्रॉड गेज नेटवर्क से जो़डने की परियोजना चल रही है जिसमें इम्फाल भी शामिल है। उन्होंने कहा, मैंने हमेशा कहा है कि जब तक पूर्वी हिस्से का विकास पश्चिमी हिस्से की तर्ज पर नहीं होता तब तक भारत के विकास की गाथा अधूरी है। पूर्वोत्तर भारत के विकास का नया इंजन बन सकता है। प्रधानमंत्री मणिपुर में कई विकास योजनाओं की आधारशिला रखने के अवसर पर बोल रहे थे। राज्य में बीरेन सिंह नीत सरकार के कार्यों की प्रशंसा करते हुए मोदी ने कहा, पिछले वर्ष मैंने आपसे कहा था कि कांग्रेस सरकार पिछले १५ वर्षों में जो नहीं कर पाई उसे हम१५ महीने में करेंगे। भाजपा सरकार ने१५ महीने से भी कम समय में काफी काम किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार राज्य में कानून- व्यवस्था की समस्या का समाधान करने में सक्षम है जबकि १५ महीना पूरा होने में अभी तीन महीने बाकी हैं्।मोदी ने कहा कि सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार के कोई आरोप नहीं हैं और आधारभूत ढांचे का विकास काफी तेजी से चल रहा है जैसा पहले कभी नहीं देखा गया। राज्य सरकार पहा़डी और आदिवासी इलाकों में ल़डकियों की शिक्षा में आने वाली समस्याओं को कम करने के लिए काम कर रही है। मोदी ने कहा, राज्य सरकार ने आदिवासी क्षेत्रों में ल़डकियों के लिए नये छात्रावास के निर्माण का काम शुरू किया है। इस तरह के एक छात्रावास के उद्घाटन का आज मुझे सौभाग्य प्राप्त हुआ। उन्होंने कहा कि केंद्र ने पूर्वोत्तर राज्यों के लिए दस इंडिया रिजर्व बटालियन के गठन की मंजूरी दी थी जिसमें दो बटालियन मणिपुर के लिए हैं्। प्रधानमंत्री ने कहा कि इससे राज्य में दो हजार युवकों को सीधे तौर पर रोजगार का अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर की १३६ महिलाओं सहित ४३८ लोग दिल्ली पुलिस में शामिल हुए्।मोदी ने १९ स्थानों पर शिक्षकों, चिकित्सकों और नर्सों के लिए आवास की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि सुदूरवर्ती इलाकों और पहा़डी जिलों में उपयुक्त आवास के बगैर उन्हें कठिनाईयों का सामना करना प़डता है। प्रधानमंत्री ने राज्य में एक हजार आंगनवा़डी केंद्रों और रानी गैदिनलियू को समर्पित एक पार्क का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि राज्य की महिला शक्ति हमेशा से देश के लिए प्रेरणा स्रोत रही हैं्।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY