नई दिल्ली/भाषाप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि सभी पक्षों को तीन आर ‘रिड्यूस, रियूज और रिसाइकिल’’, के मानक सिद्धांतों का पालन करना चाहिए जिससे कचरा प्रबंधन और सतत विकास में सहयोग मिल सके।रिड्यूस, रियूज और रिसाइकिल का तात्पर्य क्रमश: कम करने, पुन:प्रयोग और पुनर्चक्रण से है।प्रधानमंत्री का संदेश इंदौर में होने वाले आठवें ‘एशिया- पैसिफिक ३आर फोरम’’ के हिस्सेदारों के लिए था। मोदी ने कहा, थ्री आर- ‘रिड्यूस, रियूज और रिसाइकिल’’ का मंत्र मानवता के सतत विकास के लिए किसी भी विचार के केंद्र में है। एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि सम्मेलन का समापन १२ अप्रैल को होगा जिसमें गौर किया जाएगा कि किस तरह से थ्री आर शहरों और देशों को स्वच्छ, स्मार्ट, रहने योग्य और लचीला बना सकते हैं। मोदी ने अपने संदेश में कहा, सभी संबंधित पक्षों- उत्पादकों, उपभोक्ताओं और राज्यों को इन मानक सिद्धांतों का पालन करना चाहिए जो कचरा प्रबंधन के साथ ही सतत विकास की दोहरी चुनौतियों का समाधान करने में महत्वपूर्ण रूप से योगदान कर सकते हैं। समारोह का उद्घाटन दस अप्रैल को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी करेंगे। जापान के पर्यावरण मंत्री तदाहिको इटो भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे।

LEAVE A REPLY