शिलांग/कोहिमा। मेघालय और नागालैंड विधानसभा के लिए मंगलवार को हुए चुनाव में क्रमश: ६७ और ७५ प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। नागालैंड में छिटपुट घटनाओं को छो़डकर आम तौर पर मतदान शांतिपूर्ण रहा। राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी के मीडिया प्रकोष्ठ के अनुसार चुनाव के दौरान जुनहेबोटो जिले में अकुलोटो विधानसभा क्षेत्र में दो विरोधी गुटों के बीच हुए संघर्ष एक व्यक्ति की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि एक मतदान केंद्र पर सुबह करीब पौने छह बजे कुछ असामाजिक तत्वों ने देशी बम से विस्फोट किया, जिसमें एक व्यक्ति घायल हुआ। दो राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झ़डप हुई, जिसमें तीन लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए। बाद में एक व्यक्ति की मौत हो गई। दो घायल व्यक्तियों को निकट के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना के बावजूद वहां मतदान कार्य निर्बाध रूप से जारी रहा। मोकोकचुंग कस्बा विधानसभा क्षेत्र में वोट देने आए एक व्यक्ति की पंक्ति में ख़डे होने के दौरान हृदय गति रुक जाने से मृत्यु हो गई। दोनों राज्यों में पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में मतदान प्रतिशत कम रहा। मेघालय में पिछली बार ८९ और नागालैंड ९०.५७ प्रतिशत मत प़डे थे। चुनाव उपायुक्त चंद्रभूषण कुमार ने दिल्ली में संवाददाताओं को बताया कि ६० सदस्यीय मेघालय विधानसभा की ५९ सीटों के लिए १८ लाख १२ हजार ४४० मतदाताओं में से ६७ प्रतिशत ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। नागालैंड विधानसभा की सभी ६० सीटों के लिए हुए चुनाव में हिंसा की छिटपुट घटनाओं के बीच ७५ प्रतिशत मतदान हुआ। उपचुनाव आयुक्त सुदीप जैन ने दिल्ली में संवाददाताओं को बताया कि अपराह्न चार बजे मतदान की अवधि समाप्त होने तक ११ लाख ९१ हजार ३५३ मतदाताओं में से ७५ प्रतिशत ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY