मदुरै। तमिलनाडु के मदुरै स्थित प्रसिद्ध मीनाक्षी मंदिर परिसर के अंदर लगी भीषण आग पर शनिवार त़डके काबू पा लिया गया और श्रद्धालुओं को सुबह की पूजा-अर्चना के लिए अंदर जाने की अनुमति प्रदान कर दी गई। आग लगने के कारण ४० दुकान जलकर खाक हो गई। आग पर काबू पाने के अभियान की निगरानी कर रहे जिला क्लेक्टर वीरा राघव राव ने संवाददाताओं को बताया कि १००० स्तंभों वाले हॉल में लगी सभी प्रतिमाएं सुरक्षित हैं। उन्होंने बताया कि मंदिर पर आग के प्रभाव के बारे में जानने के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया है। यह टीम विशेषकर ७,००० वर्ग फुट वाले वसंतारायर मंडपम पर प्रभाव का अध्ययन करेगी जो आग लगने के कारण प्रभावित हुई है। क्लेक्टर ने बताया कि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।प्रारंभिक जांच में पता चला है कि १,००० स्तंभों वाले हॉल के निकट स्थित दुकानों में से एक में बीती रात शॉर्ट सर्किट के चलते आग लग गई थी। मंदिर के अधिकारियों ने बताया कि मंदिर अधिकारियों, कर्मचारियों और दमकल एवं बचाव सेवा अधिकारियों के समय रहते दखल के कारण १००० स्तंभों वाले हॉल में बनी सभी प्रतिमाएं सुरक्षित हैं। विभिन्न हिन्दू संगठनों ने मंदिर परिसरों से दुकान हटाने की मांग को लेकर एक प्रदर्शन किया। मंदिर और आसपास भारी संख्या में पुलिस बलों को तैनात किया गया है। प्रसिद्ध श्रीमीनाक्षी अम्मान मंदिर देश के प्राचीन मंदिरों में से एक है और हर साल यहां हजारों श्रद्धालु आते हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY