बेंगलूरु/ दक्षिण भारतभारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मुख्यमंत्री सिद्दरामैया की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार पर भाजपा नेताओं को अपने पाले में करने के लिए प्रशासनिक मशीनरी का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है। मंगलवार को भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के साथ एक संयुक्त प्रेस मीटिंग के दौरान पार्टी की सांसद और कर्नाटक भाजपा की महासचिव शोभा करंदलाजे ने यह आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पूर्व भाजपा विधायक आनंद सिंह और नागेंद्र को कांग्रेस में शामिल करने के लिए उन्हें ब्लैकमेल किया। इस सरकार ने दोनों के खिलाफ अवैध खनन में लिप्त होने के आरोपों में केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा क्लीन चिट दिए जाने के बाद भी विशेष जांच टीम (एसआईटी) की जांच शुरू करवा दी। दोनों नेताओं को जांच के नाम पर इतना सताया गया कि दोनों ने मजबूर होकर भाजपा छो़डकर कांग्रेस की सदस्यता प्राप्त कर ली। इसके तुरंत बाद राज्य सरकार ने, जो ’’नकली भाग्यों’’ के लिए जानी जाती है, इन दोनों नेताओं को अवैध खनन के मामले में क्लीन चिट दे दी और इस वर्ष १२ मार्च को एसआईटी की जांच भी बंद करवा दी। इनके साथ ही लौह अयस्क के अवैध खनन और निर्यात के मामलों की सुनवाई से इन दोनों नेताओं से जु़डी कंपनियों को पूरी राहत दे दी गई। करंदलाजे ने इसे कांग्रेसी राजनीति का दोहरा चरित्र मानते हुए कहा कि कांग्रेस इन नेताओं को उस समय दागी मानती थी, जिस समय यह भाजपा के सदस्य हुआ करते थे। वहीं, इनके कांग्रेस से जु़डते ही इन्हें पवित्र मान लिया गया। अब इन दोनों नेताओं को कांग्रेस ने अलग-अलग विधानसभा सीटों पर अपना प्रत्याशी भी बनया है। शोभा करंदलाजे ने कहा कि कांग्रेस हमेशा राजनीतिक शुद्धता के मामले में ऊंची नाक वाली पार्टी रही है। इसे बताना चाहिए कि आनंद सिंह और नागेंद्र के मामले में यह किस प्रकार की राजनीति कर रही है? पत्रकारों के एक प्रश्न के उत्तर में शोभा करंदलाजे ने टीवी चैनलों के चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों को अधिक महत्व देने से स्पष्ट इन्कार कर दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता और इसके जमीनी कार्यकर्ता मतदाताओं के बीच लगातार काम कर रहे हैं और उन्हें जनता की नब्ज का पता है। पूरे राज्य में भाजपा को व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है। मतदाता पूर्ण बहुमत के साथ भाजपा को राज्य में सत्ता की चाबी सौंपने जा रहे हैं्। मैसूरु की वरुणा विधानसभा सीट से भाजपा के पूर्व घोषित प्रत्याशी और पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येड्डीयुरप्पा के पुत्र बीवाई विजयेंद्र का टिकट अंतिम क्षण में काटे जाने के बारे में पत्रकारों द्वारा पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में शोभा करंदलाजे ने कहा कि यह निर्णय भाजपा की चुनावी रणनीति के तहत लिया गया है। उन्होंने पत्रकार वार्ता के दौरान संबित पात्रा के साथ कुछ ऑडियो और रेडियो जिंगल्स जारी किए।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY