नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के कुछ हिस्सों में तो़डफो़ड की घटनाओं की क़डी निंदा करते हुए कहा है कि इनमें शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार कुछ स्थानों पर कुछ प्रतिमाएं गिराए जाने की घटनाओं के बाद प्रधानमंत्री ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बात की और इन घटनाओं पर क़डी नाराजगी जताई। प्रधानमंत्री ने देश के कुछ हिस्सों से आई तो़डफो़ड की घटनाओं की निंदा की और कहा कि दोषी पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। देश के कई हिस्सों में प्रतिमाओं को क्षतिग्रस्त किए जाने की घटनाओं पर गंभीरता से संज्ञान लेते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को दूसरा परामर्श जारी किया। उसने कहा कि तो़डफो़ड की ऐसी घटनाओं के लिए जिला अधिकारी और पुलिस अधीक्षक निजी तौर पर जिम्मेदार होंगे। नया परामर्श जारी किए जाने से कुछ घंटे पहले मंत्रालय ने इस मामले में पहला परामर्श जारी किया था। इसमें उसने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से कहा था कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए तत्काल कदम उठाए जाएं और क़डी कार्रवाई की जाए। मंत्रालय के एक अधिकारी ने दूसरे परामर्श का हवाला देते हुए कहा, प्रतिमाओं को क्षतिग्रस्त करने की कोई घटना होने पर जिला अधिकारी और पुलिस अधीक्षक निजी तौर पर जिम्मेदार होंगे। अधिकारी ने कहा कि राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि जिला अधिकारी और पुलिस अधीक्षकों को उनके इलाकों में कानून-व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने के लिए हर संभव कदम उठाने के लिए कहा जाए। गौरतलब है कि सोमवार को दक्षिण त्रिपुरा के बेलोनिया में लेनिन की प्रतिमा को बुलडोजर से गिरा दिया गया था जबकि तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में मंगलवार रात समाज सुधारक एवं द्रवि़ड आंदोलन के संस्थापक ईवी रामासामी पेरियार की प्रतिमा कथित रूप से क्षतिग्रस्त कर दी गई।

LEAVE A REPLY