गंगटोक/भाषापवन चामलिंग ने किसी राज्य के सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री बने रहने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड माकपा के ज्योति बसु के नाम था। सत्तारू़ढ सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) के ६८ वर्षीय संस्थापक अध्यक्ष को मुख्यमंत्री के रूप में कल २३ साल चार माह १७ दिन पूरे हो गए। चामलिंग ने १२ दिसंबर, १९९४ को पहली बार सिक्किम के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। दक्षिण सिक्किम के यानगांग में २२ सितंबर, १९५० को जन्में चामलिंग ने मैट्रिक के बाद प़ढाई छो़ड दी थी। उन्होंने महज ३२ वर्ष की आयु में राजनीति में प्रवेश किया था। चामलिंग नरबहादुर भंडारी के मंत्रिमंडल में वर्ष १९८९ से १९९२ के बीच उद्योग एवं जनसंपर्क मंत्री रहे। सिक्किम में लंबे समय की राजनीतिक उथल-पुथल के बाद उन्होंने वर्ष १९९३ में एसडीएफ का गठन किया। चामलिंग ने रविवार को अपने आधिकारिक आवास मिंटोगंग में संवाददाताओं से कहा था, राज्य की जनता मेरी भाग्य नियंता है। अगर वे मुझे विश्राम देना चाहें तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है और अगर वो चाहें कि मैं सिक्किम की सेवा करूं तो मैं ऐसा करना जारी रखूंगा। मेरा कोई अपना एजेंडा नहीं है। उन्होंने कहा, मैं जीवन के हर दौर में मुझमें विश्वास जताने वालों का शुक्रगुजार हूं। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर बसु को भी श्रद्धांजलि दी। चामलिंग ने कहा कि वह भाग्यशाली हैं कि उन्होंने पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री का रिकॉर्ड तो़डा है। गौरतलब है कि बसु २१ जून, १९७७ से छह नवंबर, २००० के बीच पांच बार पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री रहे।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY