बेंगलूरु। बेंगलूरु में सोमवार और मंगलवार की दरम्यानी रात हुई अप्रत्याशित भारी बारिश के कारण बेंगलूरु शहर पानी-पानी हो गया है। विशेषकर दक्षिण बेंगलूरु के कई हिस्सों में भारी जलजमाव के कारण लोगों का आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। मौसम का पूर्वानुमान जारी करने वाली एक वेबसाइट के अनुसार शहर में सोमवार की रात लगभग छह घंटों तक हुई इस बारिश के कारण शहर के कोरमंगला, एचएसआर लेआउट,शांतिनगर, विल्सन गार्डन, केआर पुरम, अनुग्रह लेआउट, उल्सूर, विवेक नगर, मुरुगेश पाल्या, ओल्ड एयरपोर्ट रोड और बन्नरघट्टा रोड पर स्थित गुरुपन पाल्या तथा अन्य निचले इलाके पानी में डूब गए हैं। ऐसा बताया जा रहा है कि शहर में अगस्त महीने में हुई यह अब तक की सबसे अधिक बारिश है।

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान शहर में 129 एमएम बारिश हुई है। इस भारी बारिश के कारण सड़कें पानी में डूब गई है। सड़कों के किनारे पार्क वाहन भी पानी में डूब गए हैं। कई घरों में भी पानी प्रवेश कर गया है। राज्य सरकार ने इसे गंभीरता से लिया है और निचले इलाकों से पानी निकालने और राहत कार्य करने की शुरुआत कर दी गई है। इस अप्रत्याशित बारिश ने बृहत बेंगलूरु महानगर पालिका के दावों की कलई खोल कर रख दी है क्योंकि पालिके द्वारा समय -समय पर शहर में जल निकासी प्रणाली को दुरुस्त बनाने का दावा किया जाता रहा है।

इस बारिश से शहर के पॉश इलाकों में शुमार कोरमंगला सर्वाधिक प्रभावित हुआ है। इस इलाके में कई पेड़ सड़क पर गिर गए हैं। बारिश के बाद बीबीएमपी के अधिकारी हरकत में आ गए हैं और सड़क पर धराशायी होकर गिरे पेड़ों को हटाने का कार्य शुरु कर दिया गया है। इलाके की कई सड़कों पर 5 फिट तक पानी बह रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है बारिश से प्रभावित लोगों द्वारा शिकायत मिलने के बावजूद बीबीएमपी के अधिकारियों को प्रभावित क्षेत्रों तक पहुंचने में चार घंटे से अधिक का समय लग गया। हालांकि बीबीएमपी अधिकारियों का कहना है कि वह लगातार राहत कार्यों में जुटे हुए हैं।

मंगलवार को बारिश के कारण स्वतंत्रता दिवस समारोह में भी खलल पड़ा। स्वतंत्रता दिवस का आयोजन परेड ग्राउंड पर होना था लेकिन बारिश के कारण पूरा मैदान गीला हो गया । आखिरकार बीबीएमपी द्वारा मैदान पर सूखी मिट्टी की परत बिछाई गई और उसके बाद स्वतंत्रता दिवस का आयोजन हो सका। सुबह सवेरे बारिश के कारण दूध और समाचार पत्रों की आपूर्ति प्रभावित होने की बात भी कही जा रही है। बारिश की वजह से डबल रोड, शांतिनगर और होसूर रोड पर भी जलभराव होने की बात कही जा रही है। एचएएल हवाईअड्डी भी पानी में डूब गया है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY