रायचूर। हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र के रायचूर जिले की विख्यात दरगाह में राहुल गांधी ने इबादत के साथ सोमवार को अपनी तीन दिवसीय जन-आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत की। उन्होंने उन दलित संगठनों के नेताओं से भी बातचीत की, जिन्होंने आंतरिक आरक्षण पर सदाशिव आयोग रिपोर्ट को लागू करने की मांग को लेकर कल गंगावती में उन्हें काले झंडे दिखाए थे। राहुल गांधी ने उन्हें आश्वासन दिया कि उनकी मांगों पर जल्द ही विचार किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री सिद्दरामैया को इस सिलसिले में केंद्र के पास एक रिपोर्ट भेजने के लिए भी कहा। उन्होंने निजी तौर पर इस मामले को देखने की भी बात कही।राहुल गांधी ने दरगाह पर चादर च़ढायी और इबादत की। वहां उन्होंने कुछ धार्मिक नेताओं से भी मुलाकात की। उन्होंने अपने संक्षिप्त और तीखे भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि वे भूतकाल पर भाषणबाजी बंद करें और काम करना शुरू करें, क्योंकि अब उनके कार्यकाल का बहुत कम समय बचा है।राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हमेशा से धर्मनिरपेक्षता पर विश्वास करती है और कर्नाटक की सिद्दरामैया सरकार ने न सिर्फ अल्पसंख्यकों के लिए, बल्कि गरीब किसान और आमलोगों के लिए काफी काम किया है। वह फिर इंदिरा कैंटीन खोलने का मामला हो या किसानों की कर्ज माफी का। केंद्र की भाजपा सरकार की तुलना में राज्य की कांग्रेस सरकार ने बहुत सारे काम किए हैं्। जनसभा के बाद उन्होंने गंजा क्षेत्र के यारामार्स से कालामाल तक रोड शो किया और गोबुर गांव में उन्होंने नुक्क़ड सभाएं भी की।

LEAVE A REPLY