mohan bhagwat rss
mohan bhagwat rss

शिकागो। अमेरिका के शिकागो शहर में ​विश्व हिंदू सम्मेलन को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने हिंदू समुदाय से अपील की है कि वह एकजुट होकर मानव कल्याण के कार्य करे। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद करीब 2,500 लोगों के समक्ष अपने संबोधन में कहा कि हिंदू समाज में प्रतिभावान लोगों की संख्या सर्वाधिक है। भागवत का यह भाषण सोशल मीडिया पर भी काफी चर्चा में रहा। उन्होंने अपने संबोधन में हिंदू धर्म, समाज और गौरवपूर्ण इतिहास का उल्लेख किया।

भागवत ने अपने संबोधन में हिंदू समाज के बारे में कहा, ‘लेकिन वे कभी साथ नहीं आते हैं। हिंदुओं का साथ आना अपने आप में मुश्किल है।’ उन्होंने अमेरिका की सरजमीं पर हिंदू समाज को संबोधित करते हुए कहा कि हिंदू हजारों वर्षों से प्रताड़ित रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे अपने मूल सिद्धांतों का पालन करना तथा आध्यात्मिकता को भूल गए हैं। उन्होंने समाज के कल्याण के लिए एकजुटता पर बल देते हुए कहा कि हमें साथ आना होगा।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के शिकागो ​शहर में सितबर 1893 में प्रख्यात विश्व धर्म सम्मेलन का आयोजन किया गया था। उसमें देश—विदेश के कई लोगों ने भाग लिया था। भारत से स्वामी विवेकानंद भी उस सम्मेलन में शामिल हुए। उनका संबोधन विश्वविख्यात हो गया। उन्होंने हिंदू धर्म और भारतीय संस्कृति पर भाषण दिया था जिसे अमेरिका सहित दुनिया के कई देशों में सराहा गया था। इन दिनों अमेरिका में उस ऐतिहासिक संबोधन की 125वीं वर्षगांठ मनाई जा रही है। कार्यक्रम में दुनिया के 80 से ज्यादा देशों के हिंदू पहुंच रहे हैं।

सितंबर 1893 के उस संबोधन का राजस्थान से भी गहरा संबंध रहा है। उससे पहले स्वामी विवेकानंद राजस्थान के झुंझुनूं जिले में स्थित खेतड़ी आए थे। यहां के राजा अजीत ​सिंह उनके शिष्य थे। राजा साहब और अन्य शिष्यों ने स्वामीजी से अनुरोध किया था कि वे अमेरिका में होने वाले सम्मेलन में अवश्य भाग लें। उसके बाद स्वामी विवेकानंद को राजा अजीत सिंह के सहयोगी मुंबई तक विदा करने आए। यहां से स्वामीजी पानी के जहाज में बैठकर अमेरिका गए थे। यात्रा के दौरान लिखे गए उनके पत्र बहुत प्रेरक हैं।

ये भी पढ़िए:
– ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में यह चेहरा निभाएगा डॉ. हाथी का किरदार!
– पाक सेना प्रमुख की भारत को धमकी- ‘हम सरहद पर बहे लहू का हिसाब लेंगे’
– कट्टरपंथियों के आगे झुके इमरान ख़ान, अहमदी होने की वजह से मशहूर अर्थशास्त्री को निकाला
– अब भोजपुरी फिल्मों में चलेगा राखी का जादू, आ रही हैं मचाने धमाल

LEAVE A REPLY