amit shah pc
amit shah pc

नई दिल्ली। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को प्रेस वार्ता कर तृणमूल कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। बता दें कि भाजपा पश्चिम बंगाल में रथयात्रा निकालना चाह रही थी, लेकिन प्रदेश सरकार ने इजाजत नहीं दी। इसके बाद मामला अदालत में चला गया और उच्च न्यायालय ने रथयात्राओं पर रोक लगा दी। हालांकि पार्टी ने उच्च न्यायालय की बेंच में शुक्रवार को अपील दाखिल कर दी, जिसे स्वीकार कर लिया गया है।

प्रेस वार्ता में अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर लोकतंत्र का गला घोंटने का आरोप लगाया। शाह ने कहा कि ममता भाजपा से डर रही हैं और पंचायत चुनावों के बाद उनकी नींद उड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सत्ता का दुरुपयोग कर जनता की आवाज को दबा रही है।

शाह ने कहा कि पंचायत चुनावों में भाजपा का प्रदर्शन अच्छा रहा, इससे ममता बौखला गई हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में रथयात्रा निकालने के लिए प्रदेश सरकार से आठ बार अनुमति मांगी गई थी। उन्होंने तृणमूल सरकार पर हिंसा का आरोप लगाया। शाह ने कहा कि जितनी हिंसा ममता के कार्यकाल में हुई, उतनी कम्युनिस्ट शासन के दौरान नहीं हुई थी। उन्होंने कहा कि यहां भाजपा ने पंचायत चुनावों में सात हजार से ज्यादा सीटें जीतीं। इससे ममता डरी हुई हैं।

शाह ने तृणमूल सरकार पर सवाल दागते हुए कहा कि पंचायत चुनावों के दौरान भाजपा के बीस कार्यकर्ताओं की हत्या हुई। उनमें तृणमूल कार्यकर्ता नामजद हैं। शाह ने आरोप लगाया कि प्रदेश में पुलिस और तृणमूल कार्यकर्ताओं द्वारा राजनीतिक हत्याओं को शह दी जा रही है। उन्होंने उक्त हत्याओं की जांच में प्रगति पर भी सवाल उठाए।

शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल के कुशासन के खिलाफ भाजपा ने हर मंडल और जिले से आवाज उठाई है। ऐसे में ममता बनर्जी को भय है कि यात्रा निकलेगी तो यहां बदलाव आएगा। उन्होंने कहा कि हम घर-घर जाकर लोगों को ममता सरकार की हकीकत बताएंगे। रथयात्रा के बारे में उन्होंने कहा कि कानूनी लड़ाई लड़ेंगे। कार्यक्रम सिर्फ टाले गए हैं, रद्द नहीं हुए हैं।

शाह ने सवाल किया, प्रदेश में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या पर ममता बनर्जी चुप्पी क्यों साधे हैं? उन्होंने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में रोहिंग्या की घुसपैठ को ममता सरकार की पूरी शह है। उन्होंने आरोप लगाया कि देश में होने वाली सौ राजनीतिक हत्याओं में चौथाई पश्चिम बंगाल में होती हैं। शाह ने राज्य सरकार को आतंकवाद और इसे फैलाने वाले तत्वों पर नकेल कसने में अक्षम बताया। इसके अलावा मेडिकल में दाखिले के लिए घूसखोरी का आरोप लगाया। उल्लेखनीय है कि भाजपा पश्चिम बंगाल से तीन रथयात्राएं निकालने की तैयारी कर रही थी।

LEAVE A REPLY