Parker Solar Probe NASA
Parker Solar Probe NASA

वॉशिंगटन। अमेरिकी अंतरिक्ष अनुसंधान एजेंसी नासा शनिवार को एक विशेष अंतरिक्ष यान भेज रही है, जिसकी ओर पूरी दुनिया की निगाहें हैं। यह यान सूर्य के सबसे ज्यादा नजदीक जाएगा और इसकी रिपोर्ट के आधार पर वैज्ञानिक अध्ययन करेंगे। इस यान का नाम पार्कर सोलर प्रोब है। इसके जरिए नासा के वैज्ञानिक सूर्य के वातावरण, ऊष्मा और विभिन्न कार्यप्रणालियों की जानकारी हासिल करेंगे।

यह यान आकार में करीब एक कार जितना है। इसके बारे में अब तक यह कहा जाता रहा है कि यह सूर्य को स्पर्श करेगा। वास्तव में यह सूर्य की सतह से 40 लाख मील की दूरी से ही गुजरेगा। अगर यह इसमें कामयाब हुआ तो एक रिकॉर्ड कायम होगा, क्योंकि अब तक कोई अंतरिक्ष यान सूर्य के इतने करीब से नहीं गुजरा है। यह सूर्य की तेज प्रकाश किरणों का सामना करेगा।

भारतीय समयानुसार, यह शनिवार को फ्लोरिडा के केप केनवेरल से दोपहर 1 बजकर 3 मिनट पर प्रक्षेपित किया जाएगा। इस यान में सूर्य की किरणों का सामना करने के लिए विशेष ऊष्मारोधी तकनीकी का उपयोग किया गया है। कुछ माह बाद यह सूर्य के काफी नजदीक पहुंच जाएगा। जानकारी के अनुसार, आगामी छह वर्षों (2024 तक) में यह सूर्य के सात चक्कर लगाकर इतिहास रच देगा।

इस दौरान यह अपने साथ ले जा रहे उपकरणों की मदद से सूर्य की सतह से तस्वीरें भेजेगा। नासा के वैज्ञानिक उनके आधार पर शोध करेंगे। सूर्य की सतह के अध्ययन से जलवायु, प्रकाश, ऊर्जा और अंतरिक्ष विज्ञान के विभिन्न रहस्यों को जानने में सहायता मिलेगी।

ये भी पढ़िए:
– साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष का दावा- सरकार की बदनामी के लिए हुई थी अवार्ड वापसी
– पूर्व आईपीएस बोलीं- बंगाल में बढ़ रहा भाजपा का जनाधार, इसलिए खफा हुईं ममता
– ड्राइविंग लाइसेंस घर भूल आए तो फिक्र न करें, सरकार ने आसान कर दिया आपका काम

Facebook Comments

LEAVE A REPLY