सुकून चाहती थी नर्स, इसलिए 20 मरीजों को जहर देकर सुला दिया मौत की नींद

0
291
Ayumi Kuboki
Ayumi Kuboki

टोक्यो। नर्सिंग का पेशा बहुत पवित्र माना जाता है, क्योंकि इसके जरिए किसी की जान बचाई जा सकती है। वही जापान में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां एक नर्स ने सिर्फ इसीलिए मरीजों को जहर देकर मार दिया, ताकि उसकी शिफ्ट में शांति रहे। नर्स अब तक 20 मरीजों को मौत की नींद सुला चुकी है।

इस नर्स का नाम अयुमी कुबोकी है। 31 साल की कुबोकी मासूम चेहरे वाली एक सेवाभावी नर्स जैसी दिखती है, पर इसके इरादे बहुत खौफनाक थे। वह ओगुची अस्पताल में काम करती थी जो राजधानी टोक्यो से करीब 32 किमी की दूरी पर स्थित है।

नर्स कुबोकी ने मरीजों की हत्या के लिए अपने पेशे को ही हथियार बना लिया। उसने बुजुर्ग मरीजों को हत्या के लिए चुना। फिर उनकी ड्रिप में एंटीसेप्ट‍िक सल्यूशन इंजेक्ट कर दिया। इसका खुलासा हुआ तो पूरे अस्पताल में हड़कंप मच गया। कुबोकी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक, कुबोकी ने जिस वजह से मरीजों को जहर दिया, वह काफी चौंकाने वाली है। उसने बताया कि वह चाहती थी मरीजों की मौत उसकी शिफ्ट में न हो, क्योंकि उसे मरीज के रिश्तेदारों को मौत की सूचना देने में बहुत झिझक होती थी। अस्पताल में नर्सों को ऐसे मरीज के परिजनों से बात करनी होती थी, इसलिए कुबोकी ने यह रास्ता अपनाया। वह ऐसे वक्त मरीज को जहर देती थी कि उसके असर से अगली शिफ्ट में उसकी मौत हो, ताकि सूचना देने की जिम्मेदारी कुबोकी पर न आए।

लगातार एक ही तरीके से हुई मौतों ने अस्पताल पर सवालिया निशान लगा दिया। तब पुलिस ने जांच शुरू की। इस दौरान एक नर्स ने ड्रिप में बबल्स देखे। यह ड्रिप 88 साल के नोबुओ यामाकी को चढ़ाई गई थी, जिसकी बाद में मौत हो गई। बबल्स का मतलब था, जरूर किसी ने इसके साथ छेड़छाड़ की थी। जांच में पाया गया कि यामाकी को जहर दिया गया था।

पुलिस ने सभी नर्सों की यूनीफॉर्म की जांच की तो कुबोकी के कपड़ों से जहर के अंश मिले। पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया। उसने कुल 20 मरीजों की जान ली। हालांकि उनमें से ज्यादातर मरीज बहुत बीमार नहीं थे।

ये भी पढ़िए:

आतंकियों से बेखौफ यह हिंदू महिला भी लड़ रही है पाकिस्तान में चुनाव
अंग्रेज अधिकारी ने तोड़ा था यह शिवलिंग और तुरंत हो गई उसकी मौत!
अब फेसबुक पर फर्जी ‘प्रिया एंजल’ की खैर नहीं, आ गया पोल खोलने वाला फीचर

Facebook Comments

LEAVE A REPLY