स्तेपनोवस्कोय। उ़डान भरने के कुछ ही देर बाद मास्को के समीप दुर्घटनाग्रस्त हो कर अपने ७१ यत्रियों और चालक दल के सदस्यों को मौत की नींद सुला देने वाले एक रूसी विमान हादसे के जांचकर्ता आज दुर्घटना के कई संभावित कारणों की जांच करेंगे। यह हादसा रूस के विमान हादसों के इतिहास में सर्वाधिक भीषण माना जाता है।रूसी जांच समिति ने कहा है कि वह मौसम, तकनीकी खामी और मानवीय चूक सहित कई पहलुओं पर विचार करेगी क्योंकि देश में हाल के सप्ताहों के दौरान रिकॉर्ड बर्फबारी हुई है। समिति ने आतंकवाद की आशंका का जिक्र नहीं किया है।अन्तोनोव एन-१४८ विमान ने कल राजधानी में दोमोदेदोवो हवाई अड्डे से उ़डान भरी थी। दोपहर दो बज कर ४८ मिनट पर विमान मास्को के बाहरी इलाके में रेमेनस्की जिले मे दुर्घटनाग्रस्त हो गया। रूसी परिवहन जांच कार्यालय ने एक बयान में बताया विमान में ६५ यात्री और चालक दल के ६ सदस्य थे और सभी लोग मारे गए।रूसी प्राधिकारियों द्वारा प्रकाशित यात्रियों की सूची के अनुसार, मृतक में तीन बच्चे भी थे।घरेलू सरातोव एयरलाइन द्वारा संचालित यह उ़डान उराल की पहाि़डयों में स्थित शहर ओर्स्क की ओर जा रही थी। देश के आपात मंत्रालय ने बताया कि दुर्घटनास्थल पर ४०० से अधिक लोगों और ७० वाहनों की सेवाएं ली जा रही हैं।इलाके में भारी बर्फबारी हुआ है जिससे वहां तक पहुंचना ही मुश्किल हो रहा है। आपात कर्मी अपने वाहन दूर ख़डे करने के बाद पैदल घटनास्थल तक जा रहे हैं। सकेमोबाइल और ड्रोनों की मदद से सर्वे किया जा रहा है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY