दावोस। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि भारत में विदेशी निवेश की व्यापक संभावनाएं हैं और दुनिया में इसकी तुलना में ऐसे अवसर कहीं और नहीं हैं। उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर निवेशक भारत में निवेश करने को लेकर काफी इच्छुक हैं।गोयल ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत की भूमिका नेतृत्व देने वाली बन रही है और इसे बिखरी दुनिया में समस्याओं का हल करने वाले के रूप में देखा जाने लगा है।गोयल ने यहां विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के मौके पर भाषा से साक्षात्कार में कहा, आगे चलकर दुनिया की अर्थव्यवस्था, सामाजिक तनाव और आतंकवाद के खिलाफ ल़डाई तथा जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर भारत की भूमिका ब़ढने वाली है। गोयल ने कहा कि वैश्विक स्तर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की व्यक्तिगत लोकप्रियता तथा व्यक्तिगत स्वीकार्यता बहुत भारी है। उन्हें आज दुनिया भर नेता सम्मान की दृष्टि से देखते हैं और उन्हें ऐसे नेतृत्व के रूप में देख जाता है जो कि दुनिया के समक्ष आने वाली समस्याओं को हल करने में मददगार है। गोयल ने कहा कि इस दृष्टि से १२५ करो़ड भारतीय दुनिया की बात करते समय गर्व महसूस कर रहे हैं।भारत में दावोस शिखर बैठक को लेकर जिज्ञासा पर मंत्री ने कहा कि जिस तरह से भारत महाशक्ति बन रहा है, नई अर्थव्यवस्था और नया भारत बन रहा है, पूरी दुनिया काफी रुचि से हमारी ओर देख रही है। उन्होंने कहा कि हम पिछले तीन साल से दुनिया की सबसे तेजी से ब़ढती ब़डी अर्थव्यवस्था हैं। ऐसे में निश्चित रूप से लोग भारत में निवेश की काफी संभावनाएं देख रहे हैं। इसके लिए हम अपने बुनियादी ढांचे का विकास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि २,००० अरब डॉलर के निवेश ट्रस्ट के साथ हम बुनियादी ढांचे के विकास को आगे ब़ढा रहे हैं। भारत की तुलना में दुनिया में कहीं भी ऐसे अवसर नहीं हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY