वाशिंगटन। अमेरिका में भारतीय-अमेरिकियों ने एक अभियान शुरू किया है जिसका उद्देश्य ग्रीन कार्ड के ब़डी संख्या में लंबित मामलों को लेकर जागरूकता लाना है। समुदाय का कहना है कि इससे उच्च कौशल से लैस ३,००,००० भारतीय आवेदनकर्ता प्रभावित हो रहे हैं।हाल में गठित समूह जीसी रिफॉर्म्स डॉट ओआरजी के मुताबिक वर्तमान नियम के तहत प्रति देश सीमा के चलते भारत से आए कुशल आव्रजकों को ग्रीन कार्ड के लिए २५ से ९२ वर्ष तक का इंतजार करना प़डता है।व्हाइट हाउस ने अपने आव्रजन सुधार सुझाव कांग्रेस को भेजे जिसके साथ ही राष्ट्रव्यापी इस अभियान की घोषणा हुई।समूह के अध्यक्ष सम्पत शिवांगी ने कहा, आव्रजन मुद्दों से जु़डे फिजिशियन समूहों को हम समर्थन दे रहे हैं बल्कि असमंजस में फंसे अन्य पेशेवरों और इंजीनियरों के लिए निष्पक्ष ग्रीन कार्ड आवंटन प्रक्रिया का समर्थन भी करते हैं। जीसी रिफार्म्स डॉट ओआरजी की ओर से जारी एक वक्तव्य में संगठन के संस्थापक सदस्यों में से एक किरण कुमार थोटा ने कहा कि ग्रीन कार्ड मिलने में देरी को दूर करने की जरूरत है क्योंकि इससे अमेरिकी नवाचार तथा रोजगार सृजन की प्रक्रिया धीमी प़ड जाती है।हिंदू अमेरिकन फाउंडेशन के निदेशक ऋषि भूटा़डा ने कहा, कई कुशल लोग अपनी रोजगार संबंधी वही भूमिका बनाए रखने के लिए लगातार तनाव में बने रहते हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY