काठमांडु/भाषाकुआलालंपुर जा रहे मालिंदो एयरलाइंस के एक विमान के यहां त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के रनवे पर फिसल जाने से करीब १२ घंटे अंतरराष्ट्रीय उ़डान सेवायें बाधित रहने के बाद फिर से चालू हो गई। यह नेपाल का इकलौता अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा है। द काठमांडु पोस्ट के अनुसार गुरुवार देर रात १३९ यात्रियों को लेकर उडा़न भरते समय विमान संख्या ९ एम – एलएनजे को अचानक रोकना प़डा जिससे वह रनवे पर फिसल गया और कीच़ड में जाकर फंस गया।इसके चलते अंतरराष्ट्रीय उ़डानें प्रभावित हुईं। हालांकि घरेलू परिचालन पर कोई प्रभाव नहीं प़डा। ना ही किसी के हताहत होने की खबर है। विमान को भी कोई नुकसान नहीं हुआ है। खबर के अनुसार १२ घंटे अंतरराष्ट्रीय उ़डान सेवा बाधित रहने के बाद इसे दोबारा चालू कर दिया गया है। त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाइअड्डे के महाप्रबंधक राज कुमार क्षेत्री ने कैप्टन के हवाले से बताया, विमान के कैप्टन ने आखिरी समय पर कॉकपिट में मॉनिटर पर एक त्रुटि देखी और उसके बाद विमान को उ़डान भरने से रोक दिया। क्षेत्री ने कहा कि अंतिम समय में किए गए इस निर्णय से विमान की गति ज्यादा होने से उसे रोका नहीं जा सका जिससे वह रनवे से फिसलकर उसके दक्षिण में ५० मीटर दूर जाकर घास पर रुका। यह घटना स्थानीय समयानुसार रात दस बजकर आठ मिनट पर घटी।क्षेत्री ने बताया कि विमान को खींचकर कीच़ड से बाहर निकाला जा चुका है और उसे अब पार्किंग क्षेत्र में ख़डा किया गया है। रनवे को भी कोई नुकसान नहीं हुआ है और सभी अंतरराष्ट्रीय उ़डानें सुचारु रुप से चालू हो गई हैं। हाल के वर्षों में इस हवाईअड्डे पर कई दुर्घटनाएं ब़ढीं हैं और यह भी उनमें से एक है। पिछले महीने ही ढाका से आने वाले अमेरिका – बांग्ला एयरलाइंस के एक विमान में रनवे से पर मरम्मत के बाद आग लग गई थी और यह पास के ही एक फुटबाल के मैदान में घुस गया था। इसमें चालक दल के चार सदस्यों समेत ६७ यात्री थे और दुर्घटना में ५१ लोगों की मौत हो गई थी।

LEAVE A REPLY