अस्ताना। कजाखस्तान में एक यात्री बस में गुरुवार को आग लग जाने से, उसमें सवार ५२ लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी मध्य एशियाई देश के आपात सेवा मंत्रालय ने दी। मंत्रालय ने हालांकि आग लगने के कारणों के बारे में नहीं बताया है। बयान में मंत्रालय ने कहा, १८ जनवरी को सुबह करीब सा़ढे दस बजे (अंतरराष्ट्रीय समयानुसार ०४३० बजे) एक बस में आग लग गई। बस में ५५ यात्री और दो चालक थे। इसमें कहा गया, पांच यात्री किसी तरह बच पाए और उन्हें चिकित्सा सहायता मुहैया कराई गई है। शेष की मौके पर ही मौत हो गई। आपात सेवा मंत्रालय के अधिकारी रूसलान इमानकुलोव के अनुसार, बस के चालक ने बताया कि यात्री उजबेक नागरिक थे। उन्होंने बताया कि बस में आग लगी और तेजी से फैल गई। रूसी और कजाख मीडिया में प्रसारित वीडियो में बर्फीले ढलान पर ख़डी बस से गहरा धुआं निकलता नजर आ रहा है। बाद में ली गई तस्वीर में बस पूरी तरह जली नजर आ रही है। मंत्रालय ने बस को हंगरी में निर्मित इकारस वाहन बताया है। पूर्व सोवियत देशों में अब भी इकारस का बहुतायत में उपयोग हो रहा है जबकि ये बसें कई दशक पुरानी हो चुकी हैं। बस रूसी शहर समारा से दक्षिणी कजाखस्तान के शिमकेन्द जा रही थी।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY