वाशिंगटन/रायटरअमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और तुर्की के विदेश मंत्री मेवलुत कावूसोगलु ने शनिवार को अमेरिकी पादरी एंड्रयू ब्रूनसन को लेकर चर्चा की। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी। तुर्की में पादरी ब्रूनसन को हिरासत में लिए जाने की घटना अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के लिए एक ज्वलंत मुद्दा बना हुआ है। ट्रम्प प्रशासन ने पादरी ब्रूनसन की रिहाई के लिए तुर्की पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। अमेरिका ने इस संबंध में तुर्की पर प्रतिबंध लगाने की भी चेतावनी दी है। तुर्की की एक अदालत ने इस सप्ताह पादरी ब्रूनसन को घर में नजरबंद करने के आदेश जारी किए हैं।गौरतलब है कि आतंकवाद और जासूसी के आरोप में पादरी एंड्रयू ब्रूनसन पिछले २१ महीनों से तुर्की की एक जेल में बंद हैं। पादरी ब्रूनसन अमेरिका में नार्थ कैरोलिना के रहने वाले हैं और २० वर्षों से भी अधिक समय तक उन्होंने तुर्की में काम किया है। ब्रूनसन ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इंकार किया है। यदि पादरी ब्रूनसन दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें ३५ वर्ष तक कारावास की सजा हो सकता है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY