नई दिल्ली/वार्ताभारतीय कप्तान विराट कोहली की अपील के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अपने नियम में बदलाव करते हुए राष्ट्रीय टीम के क्रिकेटरों की पत्नियों एवं प्रेमिकाओं को उनके साथ विदेश दौरे पर जाने की अनुमति दे दी है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीसीसीआई का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) ने भारतीय खिलाि़डयों को उनकी पत्नियों और प्रेमिकाओं को दौरे पर ले जाने की अनुमति दे दी है। हालांकि यह छूट किसी विदेश दौरे के शुरू होने के १० दिन बाद से शुरू होगी और उसके बाद दौरे की समाप्ति तक पत्नियां एवं प्रेमिकाएं खिलाि़डयों के साथ रह सकती हैं।हाल ही में भारतीय कप्तान विराट ने बीसीसीआई से पत्नियों को दौरे पर ले जाने के नियम में बदलाव करने के लिए कहा था। पहले के नियम के अनुसार खिला़डी अपनी पत्नियों को केवल दो सप्ताह के लिए अपने साथ रख सकते थे। सीओए की इस नियम को लागू करने के पीछे दलील थी कि परिवारों के दूर रहने से खिला़डी अपने प्रदर्शन पर अधिक ध्यान दे पाएंगे। भारतीय टीम का विदेश दौरों में प्रदर्शन आमतौर पर निराशाजनक रहता है यह भी इस नियम की एक ब़डी वजह था। आमतौर पर सभी क्रिकेटर अपनी पत्नियों और प्रेमिकाओं को दौरों पर ले जाते हैं। विराट, अजिंक्या रहाणे, रोहित शर्मा, महेंद्र सिंह धोनी, चेतेश्वर पुजारा आदि क्रिकेटरों की पत्नियां भी अधिकतर दौरों पर उनके साथ ही रहती हैं। भारतीय क्रिकेट टीम का अगला चुनौतीपूर्ण दौरा विराट की अगुवाई में ऑस्ट्रेलिया का है।गौरतलब है कि वर्ष २०१५ में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड ने भी इसी तरह का निर्णय ऑस्ट्रेलियाई खिलाि़डयों के लिए जारी किया था। इसके बाद सीओए ने भी इस तरह के नियम को लागू किया था।

LEAVE A REPLY