दक्षिण भारत न्यूज नेटवर्कचेन्नई। चेंगलपेट स्थित विद्यासागर महिला महाविद्यालय में नौवां दीक्षांत समारोह शनिवार को प्रार्थना एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। सर्वप्रथम मद्रास विश्वविद्यालय के नियम के अनुसार पत्राचारक विकास सुराणा के दीक्षांत समारोह के आरंभ की घोषणा करते हुए कार्यक्रम का विधिवत संचालन किया। दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित का सम्मान विद्यासागर शिक्षण संस्थान के चेयरमैन हस्तीमल सुराणा और कोषाध्यक्ष सुरेश कांकरिया द्वारा किया गया। निदेशक बृजगोपाल आचार्य ने राज्यपाल का परिचय देते हुए सभी अतिथियों का अभिनन्दन किया। प्राचार्या डॉ सी शालिनी कुमार ने महाविद्यालय की वार्षिक रिपोर्ट प़ढ कर उपलब्धियों के विषय में विस्तार से अवगत करवाया। इस मौके पर मुख्य अतिथि बनवारीलाल पुरोहित ने सिद्धांत दर्शन का हवाला देते हुए महिलाओं को शिक्षित और सशक्त बनाने पर जोर दिया और इस कार्य को उचित परम्परा से सम्पादित करने के लिए विद्यासागर प्रबंधन को बधाई दी। उन्होंने स्वामी विवेकानंद के वचनों के अनुसार कहा शिक्षा मनुष्य में उपयुक्त पूर्णता की अभिव्यक्ति है छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा शिक्षा के माध्यम से प्रशंसनीय नागरिक बने और आत्म विश्वास कायम रखते हुए आगे चल कर महिलाए पुरुषों की चुनोतियों का सामना करे, अपने को और शक्तिशाली बनाए डिग्री प्राप्त करने के बाद छात्राए भारत के विकास में अपना निजी योगदान देकर अपने भविष्य को सुनिश्चित करे, राष्ट्र सेवा के लिए समर्पित रहने की शपथ लेवे। जब महिलाएं सशक्त होकर नेतृत्व के क्षमता प्राप्त करेंगी देश का भविष्य उज्जवल होगा साथ ही सामाजिक और आर्थिक विकास को बल मिलेगा। मुख्य अतिथि ने कॉलेज के विश्वविद्यालय में प्रथम रेंक प्राप्त स्वर्ण पदक प्राप्त करने वाली सेल्वी एन मालती बीसीए, सेल्वी एआर, शांति बीएससी फिजिक्स, सेल्वी राधिका बीए अंग्रे़जी और पी अग्निस प्रिया बीएससी सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन को डिग्री प्रतीक चिन्ह स्वर्ण पदक देकर सम्मानित किया। इसके साथ ही मद्रास विश्वविद्यालय में द्वितीय से २५ रेंक प्राप्त करने वाली छात्राओं का मंच पर सम्मान करने के साथ डिग्री प्रदान की कुल ६०९ स्नातक स्नातकोत्तर छात्राओं ने क्रम के अनुसार राज्यपाल एवं मद्रास विश्वविद्यालय के कुलपति के हाथांे डिग्रिया प्राप्त करने का सौभाग्य प्राप्त किया। प्राचार्य ने नियम के अनुसार सभी डिग्री प्राप्त करने वाली छात्राओं को शपथ दिलवाई। उपप्राचार्य डा अरुणा देवी ने दीक्षांत समारोह को सफलता पूर्वक संचालित करने में पूर्ण योगदान दिया।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY