केप टाउन। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे और निर्णायक ट्वंटी-२० मैच में मैन आफ द मैच रहे भारतीय टीम के विस्फोटक बल्लेबाज सुरेश रैना का कहना है कि इस प्रदर्शन से उन्हें काफी आत्मविश्वास मिला है और वह जल्द ही वनडे में भी वापसी करने में सफल रहेंगे। ३१ साल के रैना ने शनिवार रात को मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ २७ गेंदों पर ४३ रन बनाए और तीन ओवर में २७ रन देकर एक विकेट भी हासिल किया। उनके इस आलराउंड प्रदर्शन की बदौलत उन्हें मैन आफ द मैच का पुरस्कार मिला। रैना के हरफनमौला प्रदर्शन की बदौलत भारत ने तीसरा टी-२० मैच सात रन से जीतकर तीन मैचों की ट्वंटी-२० सीरीज २-१ से जीत ली। रैना ने मैच के बाद कहा, फिर से वापसी करना और लय पक़डना मेरे लिए काफी महत्वपूर्ण है। यहां अब मैं श्रीलंका में (त्रिकोणीय ट्वंटी-२० सीरीज) और फिर आईपीएल खेलूंगा। हमें आगे अभी काफी मैच खेलने हैं। मैं उस टीम का हिस्सा रह चुका हूं जिसने २०११ में विश्वकप जीती थी१ वह मेरा पहला विश्वकप था और मैं मेरे लिए एक अविश्वसनीय अहसास था। रैना ने कहा, बस कुछ और मैचों की बात है और मैं वनडे टीम में मैं वापसी करूंगा। मैं पिछले दो सालों से काफी मेहनत कर रहा हूं। जिम और मैदान दोनों जगह पसीना बहा रहा हूं। बस इसी सोच के साथ मेहनत कर रहा था कि एक दिन टीम इंडिया के लिए दोबारा खेलूंगा। वनडे में मैंने पांच नंबर पर अच्छी बल्लेबाजी की है। मुझे लगता है कि मैं फिर से वनडे में अच्छा कर सकता हूं। मुझे उम्मीद है कि मैं जल्द से जल्द वनडे में भी वापसी करूंगा। भारत के लिए अब तक २२३ वनडे और ६८ ट्वंटी-२० मैच खेल चुके रैना ने कहा, विराट कोहली और रवि शास्त्री का शुक्रिया जिन्होंने मुझे खुलकर बल्लेबाजी करने की छूट दी। जिस तरह हमने टेस्ट और वनडे सीरीज में प्रदर्शन किया उससे ड्रेसिंग रूम का माहौल ब़डा बेहतरीन और शांत है। उससे सीरीज में मुझे मदद मिली। शुरुआती छह ओवरों में आपको तेजी दिखानी होती है। भारतीय बल्लेबाज ने आगे कहा, टीम की पूरी प्रक्रिया बेहतरीन है। बस आपको अपने बेसिक्स सही रखने हैं। पिछले दो से ढाई महीने में हमने यहां जो किया है वो इससे पहले और कोई टीम सालों से नहीं कर सकी। इसके लिए हमें सपोर्ट स्टाफ को श्रेय देना चाहिए उन्होंने हमें विश्वास दिया है कि हम मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ दे सकें।

LEAVE A REPLY