amit shah bjp president
amit shah bjp president

नई दिल्ली। भाजपा ने आगामी लोकसभा और विभिन्न राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में पूरी ताकत झोंकने की तैयारी कर ली है। इस सिलसिले में अब भाजपा ने तय किया है कि वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में ही मैदान में उतरेगी। जानकारी के अनुसार, पार्टी संगठन चुनावों को टाल सकती है। इसके बजाय वह ​अमित शाह के नेतृत्व में ही चुनावों में उतरेगी।

बतौर पार्टी अध्यक्ष शाह का कार्यकाल जनवरी 2019 में पूरा होने जा रहा है। चूंकि उससे कुछ पहले चार राज्यों के विधानसभा चुनाव और बाद में लोकसभा चुनाव होने हैं। तेलंगाना में विधानसभा चुनावों का ऐलान नहीं हुआ है। ऐसे में शाह का कार्यकाल बढ़ाया जा सकता है।

सूत्रों के अनुसार, पार्टी अभी पूरा ध्यान आने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनावों पर देना चाहती है। अगर शाह के कार्यकाल पर गौर करें तो उन्होंने इस दौरान देश के कई हिस्सों में भाजपा को मजबूत स्थिति में ला दिया है। इसलिए संगठन में होने वाले चुनाव एक साल के लिए टाले जा सकते हैं। विभिन्न रिपोर्टों के मुताबिक, भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में इस पर फैसला ले सकती है।

बैठक में संगठन चुनाव लोकसभा चुनावों के बाद कराया जाना तय हो सकता है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा स्पष्ट बहुमत के साथ वापसी करेगी। उन्होंने कहा कि यदि संकल्प की शक्ति हो तो उसे कोई हरा नहीं कर सकता। उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक में कहा कि 2014 से भी ज्यादा प्रचंड बहुमत के साथ 2019 का लोकसभा चुनाव जीतना है। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में ‘अजेय बीजेपी’ का नारा दिया गया है।

ये भी पढ़िए:
– ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में यह चेहरा निभाएगा डॉ. हाथी का किरदार!
– पाक सेना प्रमुख की भारत को धमकी- ‘हम सरहद पर बहे लहू का हिसाब लेंगे’
– कट्टरपंथियों के आगे झुके इमरान ख़ान, अहमदी होने की वजह से मशहूर अर्थशास्त्री को निकाला
– अब भोजपुरी फिल्मों में चलेगा राखी का जादू, आ रही हैं मचाने धमाल

LEAVE A REPLY