vivek with her wife
vivek with her wife

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस के एक कांस्टेबल ने बहुराष्ट्रीय कंपनी एपल के मैनेजर पर गोली चला दी, जिसके बाद उनकी मौत हो गई। जानकारी के अनुसार, कंपनी के सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी शुक्रवार रात को अपनी सहकर्मी को घर छोड़ने जा रहे थे। उसी दौरान पुलिसकर्मी ने उन्हें गोली मारी और उनकी मौत हो गई। बताया गया है कि विवेक कार में थे। जब गोमती नगर विस्तार के पास पुलिसकर्मियों ने उन्हें रुकने का इशारा किया तो उन्होंने गाड़ी नहीं रोकी।

इसके बाद पुलिसकर्मी ने उन्हें गोली मार दी। गोली विवेक के सिर में लगी थी। इस घटना के बाद आरोपी कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया है। इस पूरे घटनाक्रम पर विवेक और उनके परिजन कई सवाल उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि विवेक ने गाड़ी नहीं रोकी तो पुलिस को आरटीओ से उनका नंबर लेकर घर आकर गिरफ्तारी करनी चाहिए थी। उसके बाद कानून उन्हें सजा देता। इस तरह बिना विचार किए गोली क्यों मारी?

विवेक की पत्नी कल्पना ने कहा है कि उन्हें अस्पताल के एक कर्मचारी ने फोन कर खबर दी कि उनके पति को चोट लगी है। पुलिस ने उन्हें कोई जानकारी तक नहीं दी। उन्होंने इस घटना को पुलिस द्वारा की गई हत्या करार दिया है। वहीं आरोपी कांस्टेबल ने कहा है कि विवेक ने उन पर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की थी।

उसके इस बयान पर विवेक के चाचा जो सब इंस्पेक्टर पद से रिटायर हो चुके हैं, ने कहा है कि यदि गाड़ी से उसकी टक्कर हुई भी तो ऐसी स्थिति में टायर या संबंधित शख्स के निचले हिस्से में गोली चलानी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस तरह इस पुलिसकर्मी ने गोली चलाई है, उसका सीधा मतलब एनकाउंटर है।

इस घटना के वक्त विवेक के साथ रहीं उनकी सहकर्मी सना खान ने कहा है कि विवेक उन्हें घर छोड़ने जा रहे थे। रास्ते में दो पुलिसवाले मिले तो विवेक ने उनसे बचकर निकलने की कोशिश की। सना ने कहा है कि इसके बाद कांस्टेबल बाइक पर सवार हुआ और उसने विवेक को गोली मार दी। उसकी शिकायत पर कांस्टेबल के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

विवेक की मृत्यु से उनके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। विवेक की पत्नी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि आरोपी कांस्टेबल प्रशांत चौधरी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। बता दें कि अभी विवेक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई है। रिपोर्ट के बाद ही मृत्यु की असल वजह सामने आ सकेगी।

क्या बोले मुख्यमंत्री?
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि इस घटना की जांच की जाएगी और यदि जरूरत पड़ी तो सीबीआई जांच भी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा है कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। यह एनकाउंटर नहीं है। आरोपी दोनों पुलिसक​र्मी पहले ही गिरफ्तार कर लिए गए हैं।

ये भी पढ़िए:
– भूखे भालू का वीडियो, जिसने खुद खोला गाड़ी का दरवाजा, फिर वह हुआ जिसकी उम्मीद न थी
– जोरदार भूकंप से हिला इंडोनेशिया, सुनामी की आशंका, देखिए दिल दहला देने वाले वीडियो
– गुजरात के कारोबारी ने कर्मचारियों के लिए खोला खजाना, तोहफे में बांटीं 1 करोड़ की गाड़ियां
– अजय की महिला प्रशंसक ने काजोल से मांग ली ऐसी चीज कि सुनकर होश उड़ गए!

LEAVE A REPLY