air force chief dhanoa
air force chief dhanoa

नई दिल्ली। राफेल सौदे को लेकर भले ही सरकार और विपक्ष में खींचतान मची हो लेकिन वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने इस सौदे को सही बताया है। उन्होंने फ्रांस की विमान निर्माता कंपनी दसॉ एविएशन के साथ हुए इस सौदे को अत्यंत महत्वपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा है​ कि अच्छा पैकेज मिलने के अलावा राफेल सौदे से कई फायदे मिले हैं। उन्होंने राफेल सौदे पर यह बात देश की राजधानी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की दौरान कही।

वायुसेना प्रमुख ने राफेल को एक अच्छा विमान बताया है। साथ ही उन्होंने कहा है कि जब यह उपमहाद्वीप में आएगा तो अत्यंत महत्वपूर्ण साबित होगा। वायुसेना प्रमुख ने इस विमान को गेम चेंजर करार दिया है। इसके अलावा विमान सौदे को सरकार का बोल्ड फैसला बताया है।

वायुसेना प्रमुख ने इस विमान सौदे में भारतीय कंपनी के चयन पर कहा कि इसका फैसला फ्रेंच कंपनी को करना था। सरकार और वायुसेना की इसमें कोई भूमिका नहीं थी। बता दें कि इस वक्त राफेल का मुद्दा छाया हुआ है। खासतौर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस मुद्दे को कई बार उठा चुके हैं।

हालांकि इसके बाद विमान निर्माता कंपनी और फ्रांस सरकार का भी बयान आया जिसमें उन्होंने मोदी सरकार के फैसले का समर्थन किया था। अब वायुसेना प्रमुख ने भी इस सौदे को सही बताया है। उन्होंने राफेल के अलावा एस-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम सौदे को भी महत्वपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा है कि सरकार द्वारा सौदे को मंजूरी मिलने के बाद यह 24 महीनों में सेना को मिलने लगेगा।

वायुसेना प्रमुख ने कहा कि सरकार ने बोल्ड कदम उठाते हुए राफेल लड़ाकू विमान खरीदे। उन्होंने इसे उच्च प्रदर्शन वाला और उच्च तकनीकी से युक्त लड़ाकू विमान बताया है जिससे वायुसेना की क्षमता बढ़ेगी। बता दें कि पिछले दिनों वायुसेना प्रमुख ने चीन और पाकिस्तान के लिए कहा था कि वे अपने विमानों को अपग्रेड कर रहे हैं। वायुसेना प्रमुख ने उनकी चुनौतियों के ​मद्देनजर तैयार रहने के लिए कहा था।

ये भी पढ़िए:
– 20 लोगों ने इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपनाने का किया फैसला, बोले- हमारे समाज ने ​नहीं दिया साथ
– जब शास्त्रीजी के आह्वान पर उपवास करने लगा था पूरा हिंदुस्तान, पढ़िए 3 प्रेरक घटनाएं
– नकल में भी अक्ल लगाना भूला पाकिस्तान, आतंकियों पर टिकट मामले में खुली फर्जीवाड़े की पोल
– विवेक ​हत्याकांड की चश्मदीद सना बोली- गोली मारने के बाद मामले को दबाने में जुटी थी पुलिस

LEAVE A REPLY