राजस्‍थान गौरव यात्रा जिन मार्गों से होकर गुजरेगी, मुख्यमंत्री राजे वहां के प्रसिद्ध मंदिरों में दर्शन-पूजन के लिए जाएंगी। भाजपा राजस्थान में दोबारा सत्ता में आने के लिए पूरा जोर लगा रही है। पार्टी के नेता इस बार पिछले रिकॉर्ड से ज्यादा सीटें हासिल करने का लक्ष्य बनाकर प्रचार कर रहे हैं।

राजसमंद। राजस्थान में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। भाजपा चुनावी तैयारियों में जोरशोर लग गई है। प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे​ सिंधिया ने शनिवार को ‘राजस्‍थान गौरव यात्रा’ शुरू की। यह यात्रा 40 दिन तक चलेगी। भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री राजे ने चारभुजा मंदिर में पूजा करने के बाद यात्रा की शुरुआत की। राजस्‍थान गौरव यात्रा करीब 165 विधानसभा क्षेत्रों से होकर गुजरेगी, जिसका सीधा-सा मतलब है कि राजे इस क्षेत्र के मतदाताओं को संबोधित करेंगी। साथ ही पार्टी उन मतदाताओं को मनाने में जुटी है जो किन्हीं कारणों से उससे नाराज थे।

इस अवसर पर राजे ने महान योद्धा महाराणा प्रताप, कुंभा, दानवीर भामाशाह, वीरांगना पन्ना धाय का स्मरण किया। यात्रा के दौरान राजे करीब 135 जनसभाओं को संबोधित करेंगी। वे करीब 6 हजार किमी का सफर तय करेंगी। विश्लेषकों के अनुसार, 200 सदस्यों वाली विधानसभा के लिहाज से यह यात्रा काफी महत्वपूर्ण है। अगर यह यात्रा मतदाताओं को प्रभावित करने में सफल हो जाती है तो इससे कांग्रेस की चुनौतियां बढ़ जाएंगी।

इस मौके पर अमित शाह ने कांग्रेस पर खूब शब्दबाण चलाए। उन्होंने कहा कि राजस्थान में जनता कमल के फूल की सरकार बनाकर इतिहास रचेगी। उन्होंने राहुल गांधी द्वारा केंद्र की राजग सरकार के काम का हिसाब मांगने पर कहा कि देश की जनता उनसे चार पीढ़ियों का हिसाब मांग रही है। शाह राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का मुद्दा उठाने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि यह देश की सुरक्षा का प्रश्न है, जिसमें कांग्रेस को वोटबैंक दिखता है। उन्होंने राहुल गांधी से एनआरसी मामले पर अपना रुख स्पष्ट करने के लिए कहा।

राजस्‍थान गौरव यात्रा जिन मार्गों से होकर गुजरेगी, मुख्यमंत्री राजे वहां के प्रसिद्ध मंदिरों में दर्शन-पूजन के लिए जाएंगी। भाजपा राजस्थान में दोबारा सत्ता में आने के लिए पूरा जोर लगा रही है। पार्टी के नेता इस बार पिछले रिकॉर्ड से ज्यादा सीटें हासिल करने का लक्ष्य बनाकर प्रचार कर रहे हैं। अमित शाह पिछले कुछ वर्षों के इस मिथक को भी तोड़ना चाहते हैं कि राजस्थान में लगातार वापसी करना भाजपा के लिए संभव नहीं।

ये भी पढ़ें:
– फारूख अब्दुल्लाह के घर में कार लेकर जबरन घुसा शख्स, सुरक्षाबलों ने किया ढेर
– मध्य प्रदेश: कांग्रेस में मची खींचतान कहीं डुबो न दे चुनावी नैया!
– लादेन की मां ने पहली बार मीडिया के सामने कहा- ‘बहुत अच्छा था मेरा बच्चा, लोगों ने बिगाड़ दिया’

LEAVE A REPLY