my wallet
my wallet

चेन्नई। भारत सहित दुनिया के कई देशों में जेबकतरे काफी लोगों को नुकसान पहुंचा चुके हैं। वे लोगों की रकम तो उड़ा ही लेते हैं, बटुए के साथ उनके कुछ जरूरी दस्तावेज भी गायब कर देते हैं। इससे लोगों की परेशानी और ज्यादा बढ़ जाती है। अब चेन्नई में जेबकतरों ने एक नया तरीका ढूंढ़ निकाला है। इसके तहत वे रुपया तो उड़ाते हैं, लेकिन संबंधित व्यक्ति के दस्तावेज लौटा देते हैं।

यह जानकर आपको हैरानी हो सकती है। दरअसल ये जेबकतरे बटुआ और दस्तावेज लौटाने खुद नहीं आते। यह जिम्मेदारी उन्होंने डाक विभाग पर छोड़ दी है। जेब काटने के बाद वे बटुए से रकम निकाल लेते हैं और बाद में दस्तावेजों से भरा बटुआ लेटर बॉक्स में डाल देते हैं। जब डाकिया इन्हें खोलता है तो उसे बटुआ और तमाम दस्तावेज मिल जाते हैं।

बाद में डाक विभाग उन्हें संबंधित पते पर पहुंचाने की कोशिश करता है। अक्सर ऐसे बटुओं से पहचान पत्र, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, प्रियजनों की तस्वीरें आदि मिलती हैं। इसके अलावा भी कुछ जरूरी दस्तावेज बटुओं में मिल जाते हैं। डाक विभाग इन्हें पहचान पत्र या दूसरे दस्तावेज पर दिए पते पर लौटाने की कोशिश करता है।

जानकारी के अनुसार, चेन्नई नगर निगम क्षेत्र में पिछले छह माह में डाक विभाग को ऐसे करीब 70 बटुए मिल चुके हैं। ये जेबकतरों ने उड़ाए थे। इनमें से रुपए और कीमती चीजें निकाल ली गईं लेकिन पहचान पत्र और दूसरे दस्तावेज छोड़े गए। बाद में संबंधित इलाके के पोस्ट मास्टर ने उसे लोगों तक पहुंचाने की पहल की। डाक विभाग को ऐसे बटुओं के साथ पासपोर्ट तक मिले हैं जिसे उसने संबंधित पते तक पहुंचा दिया। इसके अलावा कई जरूरी कागजात मिले हैं जिन पर दिए पते और फोन नंबर से लोगों तक पहुंचने की कोशिश की गई।

ये भी पढ़िए:
– स्वच्छ पाकिस्तान बनाने के लिए इमरान ने उठाई झाड़ू, लोग बोले- मोदी बनने चले हो क्या?
– एनआईए का खुलासा: आतंकी संगठन लश्कर के पैसों से हरियाणा के गांव में बना दी मस्जिद!
– बाबर के वंशज ने पूर्वजों की गलती पर माफी मांगी, कहा- राम मंदिर के लिए रखूंगा सोने की ईंट
– ठांय-ठांय बोलकर बदमाशों को डराने वाले पुलिसकर्मी ने बताई वजह, पकड़ा 25 हजार का इनामी

LEAVE A REPLY