बेंगलूरु/दक्षिण भारतकर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने रविवार को कहा कि अगर उनकी सरकार आगामी विधानसभा चुनावों के बाद सत्ता में आती है तो सतत रोजगार कार्यक्रमों और बुनियादी ढांचे के विकास पर जोर दिया जाएगा।सिद्दरामैया ने ट्विट् करते हुए कहा है पिछले पांच वर्षों में हमारी सरकार ने जो काम किए हैं हम उसके जनादेश के लिए इस चुनाव को ल़ड रहे हैं और हमने कईं क्षेत्रों में कर्नाटक को नंबर एक की श्रेणी में ला दिया है और अब राज्य को ब़डे क्षेत्रों में शुमार करने की दिशा में काम किया जाएगा। इस बार राज्य सरकार का ध्यान सतत रोजगार कार्यक्रमों और आधारभूत ढांचे के विकास पर होगा। पिछले आम चुनावों में नरेंन्द्र मोदी ने जो वादे किए थे वे सब खोखले साबित हुए हैं और इन टूटे वादों को लेकर ही इस बार का विधानसभा चुनाव ल़डा जा रहा है।उन्होंने कहा, देश में काला धन अब तक वापस नहीं लाया गया, प्रत्येक देशवासी के खाते में १५-१५ लाख रूपए की धनराशि जमा नहीं हुई है, डीजल और पेट्रोल की कीमतों में इजाफा हो रहा है , बेरोजगारी चरम सीमा पर है और प्रधानमंत्री युवाओं को पको़डा बेचने की सलाह दे रहे हैं। बैंकों में लूट खसोट चरम सीमा पर है और मोदी सरकार भ्रष्टाचार मुक्त भारत के अपने वादे को पूरा करने में नाकाम रही र्है। इन्हीं मुद्दों पर हम यह विधानसभा चुनाव ल़ड रहे हैं।उन्होंने एक अन्य टवीट् में कहा, कर्नाटक के इन चुनावों में हमारा मिशन विकास विरोधी और सांप्रदायिक भारतीय जनता पार्टी तथा मौका परस्त जनता दल सेक्युलर को हराना है जो मिलकर एक हो गए हैं। यह चुनाव भाजपा से देश के संविधान को बचाने के बारे में है जिसकी मंशा संविधान में बदलाव लाने की है।भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बी एस येड्डीयुरप्पा के इस बयान कि बेंगलूरु में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं और यह देश के असुरक्षित शहरों में शुमार हो गया है, पर प्रतिक्रिया देते हुए सिद्दरामैया ने कहा, आपने तीन ऐसे लोगों को टिकट दिया है जो विधानसभा में बैठकर पोर्न फिल्म देख रहे थे और उत्तर प्रदेश में आपकी पार्टी का विधायक बलात्कार का आरोपी है और कानून उसे बचाने में लगा हुआ है जबकि बलात्कार पीि़डता के पिता की पुलिस हिरासत में मौत हो जाती है। आपकी पार्टी के विधायक जम्मू कश्मीर में बालिका के बलात्कारियों को बचाते हैं । आपका इसी तरह का रिकार्ड है तो महिला शक्ति किस प्रकार भाजपा के साथ हो सकती है?

LEAVE A REPLY